×

लॉकडाउन में शराब के शौकीन देने लगे जान, अब सरकार ने उठाया यह बड़ा कदम

लॉकडाउन के कारण तमाम चीजें उपलब्ध ही नहीं हो पा रही हैं। सबसे ज्यादा दिक्कत तो शराब के तलबगारों को हो गई है। लॉकडाउन के एलान के बाद शराब की दुकानों पर लगातार ताले लटक रहे हैं। इसलिए दारू के शौकीनों का शौक नहीं पूरा हो पा रहा है।

SK Gautam

SK GautamBy SK Gautam

Published on 30 March 2020 1:53 PM GMT

लॉकडाउन में शराब के शौकीन देने लगे जान, अब सरकार ने उठाया यह बड़ा कदम
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

नई दिल्ली: कोरोना के संक्रमण को रोकने के लिए देश में चल रहे लॉकडाउन के कारण सबसे ज्यादा दिक्कत उन लोगों को हो गई है जो किसी न किसी नशे के आदी हैं। लॉकडाउन के कारण तमाम चीजें उपलब्ध ही नहीं हो पा रही हैं। सबसे ज्यादा दिक्कत तो शराब के तलबगारों को हो गई है। लॉकडाउन के एलान के बाद शराब की दुकानों पर लगातार ताले लटक रहे हैं। इसलिए दारू के शौकीनों का शौक नहीं पूरा हो पा रहा है। केरल में तो स्थिति यह हो गई है कि शराब न मिलने के कारण खुदकुशी के मामलों में इजाफा हो गया है।

सीएम ने खुद स्वीकारा

केरल के मुख्यमंत्री पी विजयन ने खुद स्वीकार किया है कि केरल में शराब की बिक्री पर रोक लगने के बाद राज्य में खुदकुशी के मामलों में वृद्धि हुई है। उनका कहना है कि राज्य के विभिन्न हिस्सों से खुदकुशी के मामले सामने आ रहे हैं।

शराब न मिलने से बड़े खुदकुशी के मामले

पुलिस के मुताबिक केरल के कोडंगलूर इलाके में 32 साल के एक युवक ने केवल इस कारण जान दे दी कि उसे लॉकडाउन के कारण पीने को शराब नहीं मिल पा रही थी। पुलिस का कहना है कि शराब न मिलने से वह युवक काफी परेशान था और उसने नदी में कूदकर खुदकुशी कर ली।

ये भी देखें: लक्ष्मण रेखा लांघ रहे लोग, लॉकडाउन का खुलेआम उल्लंघन

आत्महत्या की एक ऐसी ही घटना वलिकुन्नन इलाके में भी हुई। यह युवक भी शराब न मिलने से परेशान था। पुलिस का कहना है कि 34 साल के इस युवक ने आफ्टर शेव लोशन पीकर जान दे दी। राज्य में अब तक सात ऐसे लोग जान दे चुके हैं।

खुदकुशी रोकने के लिए सीएम आए आगे

अब शराब न मिलने के कारण खुदकुशी के ऐसे मामलों को रोकने के लिए खुद राज्य के मुख्यमंत्री पी विजयन आगे आए हैं। उनका कहना है कि यह फैसला किया गया है कि डॉक्टरों के सुझाव के मुताबिक आदी लोगों को शराब दी जाएगी। इसके लिए डॉक्टर का पर्चा दिखाना होगा। सीएम का यह भी कहना है कि शराब की ऑनलाइन बिक्री पर भी विचार किया जा रहा है।

सरकार मुहैया कराएगी शराब

सीएम विजयन ने बताया कि आबकारी विभाग को ऐसे लोगों को शराब मुहैया कराने के निर्देश दे दिए गए हैं जिन्हें डॉक्टरों ने ऐसी सलाह दी है। इसके साथ ही राज्य सरकार ने आबकारी विभाग को शराब पीने के आदी लोगों को मुफ्त इलाज मुहैया कराने का निर्देश भी दिया है।सीएम का कहना है कि शराब की उपलब्धता अचानक बंद होने के कारण राज्य में कई तरीके की समस्याएं देखने को मिल रहे हैं।

ये भी देखें: अब हर जिले में चलेगा कम्युनिटी किचन

नहीं रुक रहा कोरोना का संक्रमण

इस बीच राज्य में कोरोना वायरस की रफ्तार धीमी पड़ती नहीं दिख रही है। राज्य में रोज कोरोना के नए-नए मामले सामने आ रहे हैं। राज्य सरकार कोरोना का संक्रमण रोकने के लिए लॉकडाउन का सख्ती से पालन करवा रही है। राज्य सरकार का मानना है कि यदि इस बारे में सख्ती नहीं की गई तो इसका संक्रमण तेजी से फैल सकता है।

SK Gautam

SK Gautam

Next Story