Top

अपराधी सम्हालेंगे बिहारः धड़ल्ले से इन्हें दिये टिकट, एडीआर की रिपोर्ट से मचा हड़कंप

अपराधियों को टिकट बांटने के पीछे राजनीतिक दलों के बेहतरीन तर्क, 31 से 70 प्रतिशत प्रत्याशी हैं दागदार, दागदार हैं पर समाज सुधारक हैं। समाजसेवी है। मुकदमे राजनीतिक कारणों से हैं। इनसे बेहतर कोई प्रत्याशी हो ही नहीं सकता।

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 20 Oct 2020 2:39 PM GMT

अपराधी सम्हालेंगे बिहारः धड़ल्ले से इन्हें दिये टिकट, एडीआर की रिपोर्ट से मचा हड़कंप
X
All parties disclosed in ADR report in Bihar assembly elections, tickets given to criminals
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

बिहार इलेक्शन वाच और एसोसिएशन फार डेमोक्रेटिक रिफार्म्स (एडीआर) बिहार विधानसभा चुनाव के पहले चरण में चुनाव लड़ रहे 1066 प्रत्याशियों में 1064 प्रत्याशियों के स्वयं घोषित घोषणा पत्र का विश्लेषण किया है। इसमें दो प्रत्याशियों का विवरण उपलब्ध न होने के कारण उन्हें इसमें शामिल नहीं किया गया है।. इनमें एक कांग्रेस के लखी सराय से प्रत्याशी फुलेना सिंह हैं दूसरे राजद के सूर्यगढ़ से प्रह्लाद यादव हैं।

एडीआर के अनुसार 1064 प्रत्याशियों में 328 यानी 31 फीसदी ने अपने आपराधिक इतिहास की घोषणा की है। जबकि 244 यानी 23 प्रतिशत ने अपने ऊपर गंभीर आपराधिक मामलों की जानकारी दी है।

रिपोर्ट के अनुसार बड़े दलों में राजद के 41 प्रत्याशियों में 30 (73%), भाजपा के 29 प्रत्याशियों में 21 (72%), लोजपा के 41 प्रत्याशियों में 24 (59%), कांग्रेस के 21 प्रत्याशियों में 12 (57%), जदयू के 35 प्रत्याशियों में 15 (43%), बसपा के 26 प्रत्याशियों में आठ (31%) ने अपने विरूद्ध आपराधिक मामले दर्ज होने की जानकारी दी है।

इसी तरह से दलगत आधार पर गंभीर आपराधिक मामलों में बड़े दलों में रिपोर्ट के अनुसार बड़े दलों में राजद के 41 प्रत्याशियों में 22 (54%), भाजपा के 29 प्रत्याशियों में 13 (45%), लोजपा के 41 प्रत्याशियों में 20 (49%), कांग्रेस के 21 प्रत्याशियों में 9 (43%), जदयू के 35 प्रत्याशियों में 10 (29%), बसपा के 26 प्रत्याशियों में पांच (19%) ने अपने विरूद्ध आपराधिक मामले दर्ज होने की जानकारी दी है।

महिलाओं के खिलाफ अपराध से संबंधित घोषित मामलों वाले उम्मीदवार: 29 उम्मीदवारों ने महिलाओं के खिलाफ अपराध से संबंधित मामलों की घोषणा की है। 29 उम्मीदवारों में से 3 उम्मीदवारों ने बलात्कार (आईपीसी धारा -375 और 376) से संबंधित मामलों की घोषणा की है।

हत्या से संबंधित घोषित मामलों वाले उम्मीदवार: 21 उम्मीदवारों ने खुद के खिलाफ हत्या (आईपीसी की धारा -302) से संबंधित मामलों की घोषणा की है।

हत्या के प्रयास से संबंधित घोषित मामलों वाले उम्मीदवार: 62 उम्मीदवारों ने खुद के खिलाफ हत्या (आईपीसी की धारा -307) से संबंधित मामलों की घोषणा की है।

रेड अलर्ट कांस्टीट्यूएंसी *: 71 निर्वाचन क्षेत्रों में से 61 (86%) रेड अलर्ट निर्वाचन क्षेत्र हैं। रेड अलर्ट निर्वाचन क्षेत्र वे हैं जहां 3 या अधिक चुनाव लड़ने वाले उम्मीदवारों ने अपने खिलाफ आपराधिक मामले घोषित किए हैं।

सुप्रीम कोर्ट के निर्देशों का राजनीतिक दलों पर उम्मीदवारों के चयन पर कोई प्रभाव नहीं पड़ा है क्योंकि उन्होंने फिर से आपराधिक मामलों वाले लगभग 31% उम्मीदवारों को टिकट देने की अपनी पुरानी प्रथा का पालन किया है।

बिहार चरण I के चुनावों में चुनाव लड़ने वाली सभी प्रमुख पार्टियों ने अपने खिलाफ आपराधिक मामलों की घोषणा करने वाले उम्मीदवारों को 31% से 70% टिकट दिए हैं।

सर्वोच्च न्यायालय ने 13 फरवरी, 2020 के अपने निर्देशों में विशेष रूप से राजनीतिक दलों को ऐसे चयन के लिए कारण बताने का निर्देश दिया था और आपराधिक छवि के प्रत्याशियों की जगह अन्य व्यक्तियों को उम्मीदवारों के रूप में क्यों नहीं चुना।

इन अनिवार्य दिशानिर्देशों के अनुसार, ऐसे चयन का कारण संबंधित उम्मीदवार की योग्यता, उपलब्धियों और योग्यता के संदर्भ में होना चाहिए। इस पर राजनीतिक दलों द्वारा ऐसे निराधार और आधारहीन कारण बताए गए जैसे व्यक्ति की लोकप्रियता, अच्छे सामाजिक कार्य, आपराधिक मामले राजनीतिक रूप से प्रेरित हैं आदि।

यह आंकड़े स्पष्ट रूप से दिखाते हैं कि राजनीतिक दलों को चुनाव प्रणाली में सुधार करने में कोई दिलचस्पी नहीं है और हमारे लोकतंत्र को कानून बनाने वालों के हाथों नतीजा भुगतना जारी रहेगा।

आर्थिक स्थिति

चुनाव लड़ने वाले उम्मीदवारों के बीच धन का हिस्सा

  • उम्मीदवारों के बीच धन का हिस्सा: बिहार विधानसभा चुनाव 2020 के चरण में चुनाव लड़ने वाले उम्मीदवारों के बीच धन का हिस्सा इस प्रकार है:

Value of assets (Rs.)Number of candidatesPercentage of Candidates
5 cr and above939%
2 crores to 5 crores12312%
50 lakhs to 2 crores30128%
10 lakhs to 50 lakhs31530%
less than 10 lakhs23222%

Table: Share of wealth amongst contesting candidates

करोड़पति उम्मीदवार: 1064 उम्मीदवारों में से, 375 (35%) करोड़पति हैं।

पार्टी वार करोड़पति उम्मीदवार: प्रमुख दलों में से राजद के 41 उम्मीदवारों में से 39(95%), जदयू के 35 में से 31(89%), भाजपा के 29 उम्मीदवारों में से 24 (83%), लोजपा के 41 में से 30 (73%), कांग्रेस के 21 उम्मीदवारों में से 14 (67%) और BSP के 26 उम्मीदवारों में से 12 (46%) ने करोड़ रुपये से अधिक की संपत्ति घोषित की है।

करोड़पति उम्मीदवारों का पार्टी वाइज प्रतिशत

औसत संपत्ति: बिहार विधानसभा चुनाव 2020 के चरण I में प्रति प्रत्याशी की औसत संपत्ति 1.99 करोड़ रुपये है।

पार्टी वार औसत संपत्ति: प्रमुख दलों में, विश्लेषण किए गए 35 जेडी (यू) उम्मीदवारों में प्रति उम्मीदवार औसत संपत्ति 8.12 करोड़, 41 राजद उम्मीदवारों की संपत्ति 6.98 करोड़ रुपये है। 21 कांग्रेस उम्मीदवारों के पास 6.03 करोड़ रुपये की औसत संपत्ति है, 41 लोजपा उम्मीदवारों के पास 4.62 करोड़, 29 भाजपा उम्मीदवारों के पास 3.10 करोड़ रुपये की औसत संपत्ति है और 26 बीएसपी उम्मीदवारों के पास औसत संपत्ति 1.36 करोड़ है।

उच्च संपत्ति वाले उम्मीदवार: बिहार विधानसभा चुनाव चरण I में सबसे अधिक घोषित संपत्ति वाले शीर्ष 3 उम्मीदवारों का विवरण नीचे दिया गया है:

  • S.No.NameDistrictConstituencyParty NameMovable Assets (Rs)Immovable Assets (Rs)Total Assets (Rs)PAN Given
    1Anant Kumar SinghPatnaMokamaRJD18,49,28,79550,07,50,00068,56,78,795

    68 Crore+

    Y
    2Gajanand ShahiSheikhpuraBarbighaINC97,50,00060,26,00,00061,23,50,000

    61 Crore+

    Y
    3Manorma DeviGayaAtriJD(U)5,62,46,00045,00,00,00050,62,46,000

    50 Crore+

    Y

    Table: Top three candidates with highest declared assets

    • पांच उम्मीदवारों के पास कोई संपत्ति नहीं है

    S.No.NameDistrictConstituencyPartyTotal Assets (Rs)PAN Given
    1Kapiladeo MandalMungerJamalpurIND0N
    2Ashok KumarPatnaMokamaJagrook Janta Party0Y
    3Prabhu SinghKaimur (Bhabua)ChainpurRashtriya Swatantra Party0Y
    4Gopal NishadAurangabadNabinagarNCP0Y
    5Mahaveer ManjhiGayaBodh Gaya (Sc)Bhartiya Insan Party0Y

    Table: Candidates with declared zero assets

    • तीन उम्मीदवारों के पास सबसे कम संपत्ति है

    S.No.NameDistrictConstituencyPartyMovable Assets (Rs)Immovable Assets (Rs)Total Assets (Rs)PAN Given
    1Rinku KumarGayaGaya TownLog Jan Party - Secular2,70002,700

    2 Thou+

    Y
    2Shailesh RahiAurangabadKutumba (Sc)Akhil Hind Forward Bloc (Krantikari)9,000*09,000

    9 Thou+

    N
    3Lal Dhari SinghRohtasKargaharIND10,000010,000

    10 Thou+

    Y

    Table: Candidates with declared lowest assets

    • तीन सबसे ज्यादा देनदारी वाले प्रत्याशी

    S.No.NameDistrictConstituencyPartyTotal Assets(Rs)Liabilities (Rs)PAN Given
    1Anant Kumar SinghPatnaMokamaRJD68,56,78,795

    68 Crore+

    17,15,83,625

    17 Crore+

    Y
    2Shambhu Nath YadavBuxarBrahampurRJD7,59,60,884

    7 Crore+

    13,49,50,000

    13 Crore+

    Y
    3Dadan YadavBuxarDumraonIND2,59,53,000

    2 Crore+

    11,36,55,000

    11 Crore+

    Y

    Table: Top three candidates with highest liabilities

Newstrack

Newstrack

Next Story