×

भारत ने अमेरिकी संसद में लॉबीइंग ना की होती तो पाकिस्तान और मजबूत होता

एयर स्ट्राइक के बाद पाकिस्तान ने भारत पर पलटवार करने के लिए F-16 फाइटर जेट का इस्तेमाल किया था। इसके बाद कहा गया कि पाकिस्तान इसे भारत के खिलाफ तो क्या किसी भी देश के खिलाफ इस्तेमाल नहीं कर सकता था। लेकिन कहानी कुछ और ही है मेरे दोस्तों।

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 6 March 2019 5:29 AM GMT

भारत ने अमेरिकी संसद में लॉबीइंग ना की होती तो पाकिस्तान और मजबूत होता
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

नई दिल्ली : एयर स्ट्राइक के बाद पाकिस्तान ने भारत पर पलटवार करने के लिए F-16 फाइटर जेट का इस्तेमाल किया था। इसके बाद कहा गया कि पाकिस्तान इसे भारत के खिलाफ तो क्या किसी भी देश के खिलाफ इस्तेमाल नहीं कर सकता था। लेकिन कहानी कुछ और ही है मेरे दोस्तों। दरअसल, पाकिस्तान को ये प्लेन देते समय अमेरिका ने कहा था कि ये आतंकियों से लड़ने के साथ ही भारत के किसी टकराव की स्थिति से निपटने के लिए पाकिस्तान को दिए जा रहे हैं।

ये भी देखें : अमेरिका का जोर का झटका, पाक नागरिकों को 5 साल की जगह सिर्फ 3 महीने का वीजा मिलेगा

क्या है मामला

पाकिस्तान में अमेरिका की तत्कालीन राजदूत एने पैटरसन ने अमेरिकी सरकार को 24 अप्रैल 2008 को लिखे अपने लेटर में कहा था, F-16 प्रोग्राम में बढ़ोतरी से पाकिस्तान को भारत के साथ भविष्य में टकराव की स्थिति में परमाणु हमले के बजाय अन्य तरीके से प्रतिक्रिया देने के लिए ताकत भी मिलेगी। पाकिस्तान को दिए गए पैकेज में 500 AIM-120-C5 एडवांस्ड मीडियम रेंज एयर-टु-एयर मिसाइल भी शामिल थी।

आपको बता दें, इसी मिसाइल के टुकड़ों को इंडियन एयर फ़ोर्स ने सबूत के तौर पर सामने रखा है।

ये भी देखें : पाकिस्तान : मसूद अजहर के भाई समेत 44 सदस्य हिरासत में

क्या कर रहा है भारत

भारत ने ट्रंप सरकार से पूछा है कि F-16 और एडवांस्ड मीडियम रेंज एयर-टु-एयर मिसाइल के उसके खिलाफ इस्तेमाल से बिक्री की शर्तों का उल्लंघन हुआ है या नहीं।

लिखा पढ़ी की बात करें तो पाकिस्तान को F-16 देते समय तत्कालीन जॉर्ज बुश सरकार ने भारत को आश्वासत किया था कि F-16 के प्रयोग और तैनाती को लेकर कड़ी निगरानी की जाएगी। पाकिस्तान के बाहर F-16 की फ्लाइट्स या अन्य देशों के साथ अभ्यास और अभियानों में इन्हें शामिल करने के लिए अमेरिका सरकार से स्वीकृति लेनी होगी।

अमेरिका वर्ष 2016 में पाकिस्तान को 8 और F-16 बेचने वाला था इसके लिए तत्कालीन ओबामा सरकार ने पूरी तैयारी भी कर ली थी। इसके बाद हरकत में आए भारत ने अमेरिकी संसद में कॉफी लॉबीइंग की और ये सौदा रद्द हो सका।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story