×

हिसार: कार्यकर्ता सम्मेलन में अमित शाह ने कहा- झूठ का जवाब कर्म ही हो सकता है

उन्होंने कहा कि हमें ग़रीब विरोधी कहने वालों से मैं कहना चाहता हूँ कि मोदी जी के नेतृत्व में देश में पहली बार किसी सरकार ने करोड़ों गरीबों के घर बिजली, स्वास्थ्य बीमा, रसोई गैस पहुँचाकर उनके आत्मविश्वास को बढ़ाया है और उन्हें देश के विकास के साथ जोड़ा है।

Shivakant Shukla

Shivakant ShuklaBy Shivakant Shukla

Published on 25 Feb 2019 6:56 AM GMT

हिसार: कार्यकर्ता सम्मेलन में अमित शाह ने कहा- झूठ का जवाब कर्म ही हो सकता है
X
अमित शाह की फ़ाइल फोटो
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

हिसार: भाजपा अध्यक्ष अमित शाह आज हरियाणा के हिसार में पहुंच चुके हैं। यहां वह हिसार, रोहतक व सिरसा लोकसभा क्षेत्र के कार्यकर्ता सम्मेलन मे शामिल हुए। हरियाणा बीजेपी के जिला अध्यक्ष सुरेंद्र पूनिया ने बताया कि इस कार्यक्रम में लगभग 10 हज़ार लोगों के आने की सूचना प्राप्त हुई है।

कार्यकर्ता सम्मेलन के संबोधन में अमित शाह ने कहा कि एक स्वस्थ लोकतंत्र में विरोध और आलोचना होना भी जरुरी है लेकिन आलोचना और विरोध देश के हित में होनी चाहिए न की राष्ट्रहित को ताक पर रख कर अपना राजनीतिक हित सिद्ध करने के लिए। मोदी जी के नेतृत्व में हमने एक भ्रष्टाचार मुक्त सरकार दी है। पाँच साल में हमारे विरोधी भी हमारे ऊपर भ्रष्टाचार का एक आरोप नहीं लगा सकते।

झूठ का जवाब कर्म ही हो सकता है

हमें ग़रीब विरोधी कहने वालों से मैं कहना चाहता हूँ कि मोदी जी के नेतृत्व में देश में पहली बार किसी सरकार ने करोड़ों गरीबों के घर बिजली, स्वास्थ्य बीमा, रसोई गैस पहुँचाकर उनके आत्मविश्वास को बढ़ाया है और उन्हें देश के विकास के साथ जोड़ा है। अभी एक ही परिवार से पार्टी अध्यक्ष एक ही परिवार से प्रधानमंत्री थे। देश में लोकतंत्र की भावना को समाप्त करने का काम इन परिवारवादी पार्टियों ने किया है।

इस दौरान कलराज मिश्रा ने कहा कि प्रयागराज में प्रधानमंत्री जी ने सफाईकर्मीयों के पैर धोये और उन्हें कर्मयोगी की उपाधि दी, यह उनके अंदर से हीन भावना को हटाने की दृष्टि से किया गया अद्भुत प्रयास था।

ये भी पढ़ें— J&K: शहीद DSP अमन ठाकुर की अंतिम विदाई आज

सम्मेलन की तैयारियों को लेकर शहर में जगह-जगह बोर्ड लगाए गए हैं और चौकों पर साज-सजावट भी की गई है। इस वजह से उनके खाने-पीने का प्रबंध काफी अच्छे से किया गया है। उनके लिए मिट्टी के बर्तन झज्जर से मंगवाये गए हैं। कार्यक्रम समापन होने के बाद अमित शाह व सभी गणमान्य अतिथि मंच के पास ही भोजन करेंगे।

भोजन के बाद अग्रसेन भवन में विशेष बैठक रखी जाएगी, जिसमें सवा सौ पदाधिकारी मौजूद रहेंगे। इसमें आठ जिलों के प्रधान, महामंत्री व मुख्य नेता ही शामिल रहेंगे। सभी को अमित शाह विशेष दिशा-निर्देश देंगे। इसके बाद वह हवाई अड्डे के लिए रवाना हो जाएंगे।

ये भी पढ़ें— PM के लाइव प्रसारण कार्यक्रम में मोबाइल पर लगे रहे अधिकारी

सुरक्षा के कड़े इंतजाम

अमित शाह की शुरक्षा के लिए 1200 जवान रूट क्लीयरेंस की जिम्मेदारी संभालेंगे। एसपी शिवचरण एवं विभाग के आला अधिकारियों ने रविवार को कार्यक्रम स्थल पर सुरक्षा तैयारियों का जायजा कर लिया था|

अग्रसेन भवन और राजकीय कॉलेज मैदान के आस-पास 500 जवान तैनात रहेंगे। 7 पुलिस नाकों से कार्यक्रम स्थलों को सील रखा जाएगा। अग्रसेन भवन, कैंप चौक, फव्वारा चौक, पारिजात चौक, पड़ाव चौक, सिविल अस्पताल मोड़, लक्ष्मीबाई चौक पर नाका लगेगा। कार्यक्रम स्थल के 100 से 200 मीटर के दायरे में वीआईपी मूवमेंट रहेगी, जिस वजह से प्राइवेट वाहनों व लोगों की आवाजाही पर प्रतिबंध रहेगा।

ये भी पढ़ें— यूपी कॉलेज में छात्र की गोली मारकर हत्या, कैंपस में तनाव

Shivakant Shukla

Shivakant Shukla

Next Story