×

पद्म पुरस्कारों का एलान, कमेटी को भेजे गए थे 15,700 नॉमिनेशंस

गणतंत्र दिवस से पहले गुरुवार को सरकार ने पद्म पुरस्कारों का एलान किया। इस साल 15,700 से ज्यादा लोगों ने पद्म अवॉर्ड के लिए ऑनलाइन नॉमिनेशन फाइल किए थे। जबकि 2016 में यह संख्या 18 हजार से ज्यादा थी। पद्म पुरस्कारों का एलान हर साल गणतंत्र दिवस की

Anoop Ojha

Anoop OjhaBy Anoop Ojha

Published on 25 Jan 2018 3:40 PM GMT

पद्म पुरस्कारों का एलान, कमेटी को भेजे गए थे 15,700 नॉमिनेशंस
X
पद्म पुरस्कारों का एलान, कमेटी को भेजे गए थे 15,700 नॉमिनेशंस
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

नई दिल्ली:गणतंत्र दिवस से पहले गुरुवार को सरकार ने पद्म पुरस्कारों का एलान किया। इस साल 15,700 से ज्यादा लोगों ने पद्म अवॉर्ड के लिए ऑनलाइन नॉमिनेशन फाइल किए थे। जबकि 2016 में यह संख्या 18 हजार से ज्यादा थी। पद्म पुरस्कारों का एलान हर साल गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर किया जाता है। पिछले साल 89 अवॉर्ड दिए गए थे। बता दें कि आजादी के बाद से पिछले साल तक कुल 4417 हस्तियों को देश के प्रतिष्ठित अवॉर्ड दिए जा चुके हैं।केंद्र सरकार की ओर से हर साल पद्म पुरस्कारों एलान गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर किया जाता है।

केंद्र सरकार ने बृहस्पतिवार को इस वर्ष के पद्म सम्मान पाने वालों की घोषणा कर दी। संगीतकार इलियाराजा को दूसरा सर्वोच्च नागरिक सम्मान पद्म विभूषण दिया गया है। उन्हें 2010 पद्म भूषण से सम्मानित किया गया था। इसके अलावा 16 हस्तियों को पद्मश्री अवार्ड दिया गया है। इन हस्तियों को शुक्रवार को यह अवार्ड प्रदान करेंगे।

पी एम ने कहा था

देश में अलग-अलग क्षेत्र में कुछ एेसे कामयाब और बेहतरीन काम करने वाले लोग हैं, उन्हें ये पद्म अवॉर्ड्स मिलने चाहिए।

पद्मश्री अवार्ड पाने वालों में खिलौना अन्वेषक व विज्ञान प्रसारक अरविंद गुप्ता, जंगल की बड़ी मा केरल की लक्ष्मी कुट्टी, गोंड कलाकार भज्जू श्याम, 98 वर्षीय सामाजिक कार्यकर्ता सुधांशु बिश्वास और और केरल के एमआर राजगोपाल, मिड वाइफ सुलागति नारासम्मा का नाम है। इसके अलावा भारत के प्रथम पैरालम्पक स्वर्ण पदक विजेता मुरलीकांत पेटकर, प्लास्टिक रोड मेकर राजगोपालन वासुदेवन, सब्जी बेचने वाली सुभाषिनी मिस्त्री जिसने अपने गांव के लिए अस्पताल बनवाया, तमिल लोककला मर्मज्ञ विजयलक्ष्मी और कैंसर का उपचार करने वाले तिब्बती भिक्षु डॉक्टर येशी धोंडेन के नाम शामिल हैं।

पद्मश्री मेरे पिता को सच्ची श्रद्धांजलि -शाहकार जलालपुरी, अनवर जलालपुरी के बेटे

मेरे पिता का जी का पूरा जीवन देश की एकता, अखंडता, सामजिक एकता, हिंदू मुस्लिम एकता और भाषाई एकता के लिए काम करते बीता। वो हमेशा से एकता और अखंडता के पक्षधर थे। उनकी पूरी साहित्यिक कृतियां और साहित्यिक यात्रा इसका उदाहरण हैं। अगर सामाजिक और देश की एकता की बात की जाय तो उन्होंने श्रीमद् भागवत गीता और कुरान शरीफ का काव्यात्मक अनुवाद किया वहीं अगर भाषाई एकता के स्तर पर देखा जाय तो उन्होंने गुरुदेव रवींद्र नाथ टैगोर की गीतांजलि और उमर खय्याम की फारसी कृति रुबाइयात का भी काव्यात्मक अनुवाद किया। इऩ प्रयासों को भारत सरकार ने समझा और सम्मान किया।

पद्म पुरस्कारों का एलान, कमेटी को भेजे गए थे 15,700 नॉमिनेशंस पद्म पुरस्कारों का एलान, कमेटी को भेजे गए थे 15,700 नॉमिनेशंस

ये मेरे पिताजी को भारत सरकार की तरफ से सच्ची श्रद्धांजलि है। भारत सरकार और प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी को मैं अपनी और अपने परिवार की तरफ से तहे दिल से शुक्रिया करता हूं।

यह मेरा नहीं ब्रज का सम्मान है -मोहन स्वरूप भाटिया, लोक संस्कृति के संरक्षक

अगर मुझे यह सम्मान लोकगीत और लोककला के संकलन और लोक संस्कृति के उपनयन और संरक्षण के लिए मिला है तो यह मेरा नहीं बृज का सौभाग्य है।

पद्म पुरस्कारों का एलान, कमेटी को भेजे गए थे 15,700 नॉमिनेशंस पद्म पुरस्कारों का एलान, कमेटी को भेजे गए थे 15,700 नॉमिनेशंस

इससे बृज के साहित्य, संगीत, कला को प्रोत्साहन मलेगा और मुझे यह आत्म संतोंष होगा कि मेरे श्रम को सराहा गया है। अब तक की विडंबना रही है कि बृज का साहित्य और संगीत पूरे देश में सबसे समृद्ध होने के बावजूद उपेक्षित रहा है। अब इसे पूरे विश्व में पहचान मिलेगी। मैं भारत सरकार और मोदी जी का कृतज्ञ हूं।

यहां देंखे पूरी लिस्ट

यह पुरस्कार कला, दवा, सामाजिक कार्य, विज्ञान, तकनीकी, जनता से जुड़े मामलों, समाज सेवा, व्यापार, कारोबार, साहित्य और शिक्षा के क्षेत्र में उल्लेखनीय योगदान करने वाले लोगों को दिये जाते हैं। इस वर्ष पद्म पुरस्कारों के लिए पंद्रह हजार से अधिक लोगों ने आवेदन किया था।

पद्मश्री अवार्ड पाने वालों की सूची

1. अरविंद गुप्ता (शिक्षा और साहित्य -सस्ती शिक्षा)

2.लक्ष्मीकुट्टी (सांप के काटे की दवा)

3. भज्जूश्याम –गोंड कला पेंटिंग

4. सुधांशु बिश्वास(समाज सेवा)

5. एमआर राजगोपाल-वृद्धों की सेवा

6. मुरलीकिन पेटकर -खेल

7. राजगोपाल वासुदेवन-विज्ञान व तकनीकी में नवोन्मेश

8. सुहासिनी मिस्त्री-सामाजिक कार्य

9. विजयलक्ष्मी नवनाथकृष्णन-साहित्य और शिक्षा-सस्ती शिक्षा

10. सुलागति नरसम्मा-दवा

11. येहि ढोडेन-दवा

12. रानी और अभय बांग दवा-सस्ता उपचार

13. लंटिना ठक्कर-सामाजिक कार्य सेवा

14. रोमुलुस विटाकीर-वन्यजीव संरक्षण

15. सम्पत रामटेक सामाजिक कार्य

16. संदुक रुइट- नेत्र उपचार

पद्म पुरस्कारों का एलान, कमेटी को भेजे गए थे 15,700 नॉमिनेशंस पद्म पुरस्कारों का एलान, कमेटी को भेजे गए थे 15,700 नॉमिनेशंस

पद्म पुरस्कारों का एलान, कमेटी को भेजे गए थे 15,700 नॉमिनेशंस पद्म पुरस्कारों का एलान, कमेटी को भेजे गए थे 15,700 नॉमिनेशंस

पद्म पुरस्कारों का एलान, कमेटी को भेजे गए थे 15,700 नॉमिनेशंस पद्म पुरस्कारों का एलान, कमेटी को भेजे गए थे 15,700 नॉमिनेशंस

पद्म पुरस्कारों का एलान, कमेटी को भेजे गए थे 15,700 नॉमिनेशंस पद्म पुरस्कारों का एलान, कमेटी को भेजे गए थे 15,700 नॉमिनेशंस

पद्म पुरस्कारों का एलान, कमेटी को भेजे गए थे 15,700 नॉमिनेशंस पद्म पुरस्कारों का एलान, कमेटी को भेजे गए थे 15,700 नॉमिनेशंस

Anoop Ojha

Anoop Ojha

Excellent communication and writing skills on various topics. Presently working as Sub-editor at newstrack.com. Ability to work in team and as well as individual.

Next Story