POK पर एक्शन में सेना, आर्मी चीफ ने दिया बड़ा बयान

नई दिल्ली। भारतीय सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवाणे ने कहा कि अगर संसद चाहे तो पीओके (पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर) पर भी कार्रवाई करेंगे। सेना प्रमुख ने कहा, ‘यह एक संसदीय संकल्प है कि संपूर्ण कश्मीर भारत का हिस्सा है। अगर संसद ने कहा कि वो क्षेत्र (पीओके) भी हमारा होना चाहिए और हमें उस आशय के आदेश दे तो हम उसके लिए उचित कार्रवाई करेंगे।’

आर्मी चीफ जनरल मुकुंद नरवणे ने कही ये बात

देश के नए आर्मी चीफ जनरल मुकुंद नरवणे ने शनिवार को कहा कि सियाचिन हमारे लिए बहुत अहम है। उन्होंने अपनी पहली प्रेस कॉन्फ्रेंस में विश्वास भरा पैगाम देते हुए कहा कि सुरक्षा हमारी प्राथमिकता है, सुरक्षा के साथ किसी भी तरह का समझौता नहीं किया जा सकता।

ये भी पढ़े-दिल्ली: कल दो दिवसीय यात्रा पर कोलकाता जाएंगे पीएम मोदी

सीडीएस के गठन से सेना को मजबूती मिलेगी

आर्मी चीफ ने कहा कि सीडीएस का बनना महत्वपूर्ण कदम है, सीडीएस के गठन से सेना को मजबूती मिलेगी। उन्होंने कहा कि तीनों सेनाओं के बीच तालमेल जरूरी है, हम भविष्य की चुनौतियों और खतरों को ध्यान में रखकर प्लानिंग करेंगे और प्राथमिकता के हिसाब से बजट का इस्तेमाल किया जाएगा।

ये भी पढ़े-पीओके में टेरर कैंप पर भारतीय सेना के हमले को पाकिस्तान ने नकारा

सेना क्वॉलिटी पर फोकस करेंगे

आर्मी चीफ ने कहा कि हम क्वॉन्टिटी पर ध्यान ना देकर क्वॉलिटी पर फोकस करेंगे। पुंछ सेक्टर में पाकिस्तान सेना द्वारा दो निहत्थे नागरिकों की हत्या पर नरवाणे ने कहा, ‘हम इस तरह की बर्बर गतिविधियों का सहारा नहीं लेते हैं और एक बहुत ही पेशेवर सेना के रूप में लड़ते हैं। ऐसी स्थितियों से उचित सैन्य तरीके से निपटेंगे।’

ये भी पढ़े-तीनों सेनाओं के बीच तालमेल जरूरी, जवान हमारी ताहत-आर्मी चीफ नरवणे

भारतीय सेना पहले की तुलना में आज बेहतर तैयार है

उन्होंने कहा, ‘भारतीय सेना पहले की तुलना में आज बेहतर तैयार है। चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ की नियुक्ति और सैन्य मामलों के विभाग का निर्माण एकीकरण की दिशा में एक बहुत बड़ा कदम है और हम अपनी ओर से यह सुनिश्चित करेंगे कि यह सफल हो।’

पाकिस्तान और चीन सीमा पर सेना को संतुलित करने की आवश्यकता पर नरवाणे ने कहा, ‘संतुलन की आवश्यकता है क्योंकि उत्तरी और पश्चिमी दोनों सीमाओं पर समान ध्यान देने की आवश्यकता है।’