‘मिशन शक्ति’ के लिए UPA सरकार ने नहीं दी इजाजत: अरुण जेटली

भारत ने अंतरिक्ष में दुनिया को ‘मिशन शक्ति’ के जरिए आज अपनी ताकत दिखाते हुए बुधवार को एक लाइव सैटलाइट को मार गिराया। इसके बाद सियासी बयानबाजी शुरू हो गई है। वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कांग्रेस के तंज पर पलटवार किया है।

नई दिल्ली: भारत ने अंतरिक्ष में दुनिया को ‘मिशन शक्ति’ के जरिए आज अपनी ताकत दिखाते हुए बुधवार को एक लाइव सैटलाइट को मार गिराया। इसके बाद सियासी बयानबाजी शुरू हो गई है। वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कांग्रेस के तंज पर पलटवार किया है।

अरुण जेटली ने कहा कि ये बहुत समय पहले से हमारे वैज्ञानिकों की इच्छा थी और उनका कहना था कि हमारे पास ये क्षमता है, लेकिन उस समय की सरकार हमे ये करने की अनुमति नहीं देती थी।

यह भी पढ़ें…नामचीन मलयालम लेखिका अशिता का निधन, साहित्य संसार में शोक

वित्त मंत्री ने कहा कि कांग्रेस आज इस उपलब्धि के लिए अपनी पीठ थपथपा रही है, लेकिन उन्हें शायद 21 अप्रैल 2012 को एक अखबार में प्रकाशित हेडलाइन याद नहीं है। जेटली ने कहा वैज्ञानिक 1 दशक से इसके लिए तैयार थे, लेकिन तत्कालीन सरकार ने इसकी अनुमति नहीं दी।

यह भी पढ़ें…अमित शाह ने ट्वीट कर कहा,”गिरिराज सिंह बिहार के बेगूसराय से लोक सभा चुनाव लड़ेंगे”

अरुण जेटली ने कहा कि हमारी सरकार ने इसके लिए अनुमति दी। उन्होंने कहा कि आज देश के लिए एक ऐतिहासिक दिन है, खासतौर से वैज्ञानिकों के लिए, जिन्होंने आज वो क्षमता प्राप्त की जो अभी तक विश्व में केवल 3 देशों के पास थी।

यह भी पढ़ें…भारत खुद को सुरक्षित रखने के लिए सभी जरूरी कदम उठाएगा: रामनाथ कोविंद

उन्होंने कहा कि जो लोग अपनी नाकामियों के लिए अपनी पीठ थपथपाते हैं, उनको याद रहना चाहिए कि उनसे जुड़ी कहानियों के पद चिह्न बहुत लंबे हैं और कहीं न कहीं ये पद चिह्न मिल ही जाते हैं।

बता दें कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने परीक्षण पर वैज्ञानिकों को बधाई दी। इसके साथ ही राहुल ने पीएम मोदी पर तंज कसते हुए कहा कि वर्ल्ड थिएटर डे की भी बधाई दी।