×

जेटली अर्थव्यवस्था पर करेंगे बैठक, GDP,GST पर होगी चर्चा

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 19 Sep 2017 10:23 AM GMT

जेटली अर्थव्यवस्था पर करेंगे बैठक, GDP,GST पर होगी चर्चा
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

नई दिल्ली : केंद्रीय वित्तमंत्री अरुण जेटली अर्थव्यवस्था को लेकर एक उच्चस्तरीय बैठक करेंगे, जिसमें आर्थिक सुस्ती के बीच उठाए जाने वाले कदमों पर चर्चा की जाएगी। इन कदमों में किसी संभावित प्रोत्साहन पैकेज की घोषणा शामिल हो सकती है।

ये भी देखें:वाघेला ने बनाया ‘जन विकल्प’, निर्दलीय उम्मीदवारों का करेंगे समर्थन

इस बैठक में केंद्रीय वाणिज्य मंत्री सुरेश प्रभु, नीति आयोग के उपाध्यक्ष राजीव कुमार सहित वित्त मंत्रालय के सचिव अशोक लवासा, सुभाष चंद्र गर्ग, हसमुख अधिया, राजीव कुमार और नीरज कुमार गुप्ता के हिस्सा लेने की संभावना है। बैठक मंगलवार शाम आयोजित होनी है। पहले यह समीक्षा बैठक प्रधानमंत्री के साथ होनी थी।

ये भी देखें:मथुरा रैली में योगी बोले- केंद्र सरकार की तर्ज पर ही UP में भी हो रहा काम

पिछले हफ्ते मुख्य आर्थिक सलाहकार अरविन्द सुब्रह्मण्यम ने मोदी से मिलकर अर्थव्यवस्था की स्थिति पर चर्चा की थी।

नोटबंदी के बाद विकास दर को लगा झटका, उसके बाद वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) व्यवस्था के तहत ढलने में परेशानी और ढुलमुल निजी निवेश से अर्थव्यवस्था की बुरी हालत को देखते हुए सरकार द्वारा कुछ वित्तीय प्रोत्साहन देने की बात कही जा रही है।

ये भी देखें:India vs Australia: आस्ट्रेलिया पर इंद्र देव की मेहरबानी, दूसरा वनडे धुलने का खतरा

विनिर्माण क्षेत्र में सुस्ती के कारण चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में जीडीपी (सकल घरेलू उत्पाद) की दर घटकर 5.7 फीसदी पर आ गई है, जो साल 2014 में मोदी के सत्ता संभालने के बाद की सबसे कम दर है।

मुख्य सांख्यिकीविद् टी.सी.ए. अनंत ने कहा है कि पहली तिमाही में जीडीपी गिरकर 5.7 फीसदी पर इसलिए आई है, क्योंकि कंपनियों ने एक जुलाई को जीएसटी लागू होने से पहले सभी स्टॉक को खाली कर दिया था।

ये भी देखें:शर्मनाक: नशे में धुत होकर स्कूल पहुंचता है यह सरकारी प्रिंसिपल और फिर हर रोज…

रपटों में कहा गया है कि सरकार निर्यात को बढ़ावा देने, रोजगार के अवसर पैदा करने और व्यापार घाटे को कम करने के लिए लघु और मध्यम अवधि दोनों तरह के उपायों पर विचार कर रही है, जो कि 2018-19 के केंद्रीय बजट में पेश किए जाने की संभावना है। हालांकि, इसके बारे में कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है।

सरकार बैंकों और कॉरपोरेट के दोहरे बैलेंस शीट परि²श्य में सुधार के लिए कुछ गैर-निष्पादित परिसंपत्तियों (एनपीए) या फंसे हुए कर्जो के मामलों को हल करने पर भी विचार कर सकती है।

ये भी देखें:त्योहारों के सीजन में फ्यूजन लुक में यूं दिखें आकर्षक, लोग देखेंगे आपको एकटक

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story