×

राजकीय सम्मान संग अरुण जेटली की अंतिम विदाई, अनंत में हुए विलीन

पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली का शनिवार को 12 बजकर 7 मिनट पर AIIMS में निधन हो गया। वह काफी समय से बीमार थे, जिसकी वजह से उन्हें 9 अगस्त को हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था। उन्हें सांस लेने में दिक्कत हो रही थी। उनके निधन से पूरा देश शोक में डूबा हुआ है।

Roshni Khan

Roshni KhanBy Roshni Khan

Published on 25 Aug 2019 3:41 AM GMT

राजकीय सम्मान संग अरुण जेटली की अंतिम विदाई, अनंत में हुए विलीन
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

नई दिल्ली: पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली का शनिवार को 12 बजकर 7 मिनट पर AIIMS में निधन हो गया। वह काफी समय से बीमार थे, जिसकी वजह से उन्हें 9 अगस्त को हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था। उन्हें सांस लेने में दिक्कत हो रही थी। उनके निधन से पूरा देश शोक में डूबा हुआ है। अरुण जेटली का पार्थिव शरीर निगमबोध घाट पहुंच गया है। वहीँ 2:30 बजे निगम बोध घाट पर उनका अंतिम संस्कार होगा।

ये भी देखें:BJP मुख्यालय पर आज दोपहर 1 बजे तक लाया जाएगा अरुण जेटली का पार्थिव शरीर

जेटली के निधन पर तमाम दिग्गज नेताओं ने शोक जताया। जब जेटली का निधन हुआ तब पीएम मोदी विदेश दौरे पर थे. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बहरीन में भारतीय समुदाय को संबोधित करते हुए पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली के निधन पर शोक व्यक्त किया। पीएम मोदी ने कहा कि आज मेरे भीतर एक गहरा दर्द छुपा हुआ है, मैं इतना दूर हूं और मेरा दोस्त अरुण चला गया। पीएम मोदी ने अगस्त महीने का जिक्र करते हुए कहा कि कुछ दिन पहले बहन सुषमा चली गईं थी, आज साथ चलने वाला दोस्त चला गया।

ये भी देखें:बहरीन में आज श्रीनाथ मंदिर में दर्शन के लिए जाएंगे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

अरुण जेटली

कौन थे अरुण जेटली?

  • सुप्रीम कोर्ट में वरिष्ठ वकील थे।
  • अरुण जेटली की गिनती देश के प्रखर नेताओं में होती थी।
  • मोदी को पीएम बनाने में जेटली की अहम भूमिका रही है।
  • अरुण जेटली के दो बच्चे हैं। दोनों ही वकालत करते हैं।

Roshni Khan

Roshni Khan

Next Story