प्रणव मुखर्जी, नाना जी देशमुख, और भूपेन हजारिका को भारत रत्न

गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने तीन हस्तियों को देश का सर्वोच्च सम्मान ‘भारत रत्न’ देने की घोषणा की है। पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी, नाना जी देशमुख (मरणोपरांत) और डॉ. भूपेन हजारिका (मरणोपरांत) को देश का सर्वोच्च सम्मान दिया जाएगा। तीनों ही नाम काफी बड़े हैं। नानाजी देशमुख ने अपनी जीवन समाजसेवा में समर्पित कर दिया। ग्रामीण विकास में उनके योगदान को आज भी याद किया जाता है।

Published by Anoop Ojha Published: January 25, 2019 | 8:47 pm
Modified: January 25, 2019 | 9:22 pm

प्रणव मुखर्जी, नाना जी देशमुख, और भूपेन हजारिका को भारत रत्न

नई दिल्ली: गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने तीन हस्तियों को देश का सर्वोच्च सम्मान ‘भारत रत्न’ देने की घोषणा की है। पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी, नाना जी देशमुख (मरणोपरांत) और डॉ. भूपेन हजारिका (मरणोपरांत) को देश का सर्वोच्च सम्मान दिया जाएगा। तीनों ही नाम काफी बड़े हैं। नानाजी देशमुख ने अपनी जीवन समाजसेवा में समर्पित कर दिया। ग्रामीण विकास में उनके योगदान को आज भी याद किया जाता है। मशहूर लोक गायक भूपेन हजारिका असम से ताल्लुक रखते हैं। 8 सितंबर 1926 में भारत के पूर्वोत्तर असम राज्य के सदिया में जन्मे हजारिका ने अपना पहला गाना 10 साल की उम्र में गाया था।