प्रमोशन में आरक्षण पर आर-पार की लड़ाई, यहां दिख रहा ‘भारत बंद’ का असर

भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर का कहना है कि केंद्र की बीजेपी सरकार आरक्षण छीनने की कोशिश कर रही है। अगर केंद्र सरकार ने अध्यादेश लाकर सुप्रीम कोर्ट के आरक्षण पर दिए फैसले को नहीं पलटा तो उसी तरह का प्रदर्शन होगा जैसे एससी-एसटी एक्ट को लेकर पूर्व में आए फैसले के खिलाफ इससे पहले हो चुका है।

नई दिल्ली: सरकारी नौकरियों में प्रमोशन में आरक्षण पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के खिलाफ भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर आजाद ने आज यानि 23 फरवरी को भारत बंद बुलाया है। इस प्रदर्शन में प्रदर्शनकारी नागरिकता संशोधन कानून (CAA), राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (NRC) और राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर (NPR) को हटाए जाने की भी मांग कर रहे हैं।

बिहार से मिला समर्थन

चंद्रशेखर के भारत बंद को बिहार में महागठबंधन का समर्थन मिला है। साथ ही हिंदुस्ताानी आवाम मोर्चा (हम) के नेताओं द्वारा भारत बंद के दौरान बिहार के जिलों में सड़कों पर उतरने की बात कही गई है।

चंद्रशेखर आजाद ने ट्वीट करते हुए लिखा कि…

चंद्रशेखर आजाद ने ट्वीट करते हुए लिखा है कि, ऐतिहासिक भारत बंद की शुरुआत जाफराबाद सीलमपुर दिल्ली से कर दी गई है दिल्ली के साथी जाफराबाद पहुंचे। आज संवैधानिक दायरे में रहते हुए पूरा भारत बंद किया जाएगा। भाजपा सरकार को बहुजनों की ताकत का एहसास करवाया जाएगा।

बिहार के भोजपुर में बंद समर्थकों ने पूर्वी रेलवे गुमटी के पास रेल ट्रैक पर बैठकर रेल परिचालन को बाधित कर दिया है। भारत बंद के समर्थन में सैकड़ों लोगों ने बस स्टैंड के पास आरा-पटना-सासाराम मुख्य मार्ग को भी जाम कर दिया है। बंद में राष्ट्रीय जनता दल, जनाधिकार पार्टी समेत कई पार्टी का है समर्थन है।

बिहार के बेगूसराय में भीम आर्मी के कार्यकर्ताओं ने पावर हाउस चौक पर एनएच-31 को जाम कर दिया है। शहर के आसपास कई जगह कार्यकर्ता एनएच-31 को जामकर केंद्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी कर रहे हैं।

चंद्रशेखर आजाद के समर्थन में बिहार के सुपौल में राष्ट्रीय लोक समता पार्टी के सैकड़ों कार्यकर्ता उतर गए हैं। भीम आर्मी के भारत बंद के समर्थन में एनएच-57 को भीमपुर में जाम कर दिया है। फोरलेन पर गाड़ियों की लंबी कतारें भी लग गई हैं।

भीम आर्मी के समर्थन में बिहार के बाढ़ में कार्यकर्ता उतर गए हैं। जन अधिकार पार्टी के कार्यकर्ताओं ने बाढ़ स्टेशन पर ट्रेन रोक कर नारेबाजी की। अब पटना पैसेंजर ट्रेन को रोक लिया। प्रदर्शनकारी प्रमोशन में आरक्षण के लिए अध्यादेश लाने की मांग कर रहे हैं। वहीं सीएए, एनपीआर और एनआरसी को भी हटाने की मांग कर रहे हैं।

भीम आर्मी के भारत बंद के समर्थन में बिहार के दरभंगा में ट्रेन रोकी गई। दरभंगा के लहेरियासराय स्टेशन पर कमला गंगा फास्ट पैसेंजर को भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (माओवादी) के समर्थकों के जरिए रोका गया।

सरकार प्रमोशन में आरक्षण के लिए अध्यादेश लाए: भीम आर्मी चीफ

प्रदर्शनकारियों की मांग है कि सरकार प्रमोशन में आरक्षण के लिए अध्यादेश लाए। इसके साथ ही नागरिकता संशोधन कानून (CAA), राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (NRC) और राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर (NPR) को हटाए जाने की भी मांग प्रदर्शनकारी कर रहे हैं।

भीम आर्मी चीफ ने ओबीसी, एससी-एसटी और अल्पसंख्यक वर्ग के नेताओं से भी भारत बंद का समर्थन करने की अपील की है। उन्होंने चेताया कि पिछड़े और दलित वर्ग के सांसदों-विधायकों ने अगर समर्थन नहीं दिया तो उनके घरों के सामने भी प्रदर्शन होगा।

सुप्रीम कोर्ट का आदेश पलटने की मांग

भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर का कहना है कि केंद्र की बीजेपी सरकार आरक्षण छीनने की कोशिश कर रही है। अगर केंद्र सरकार ने अध्यादेश लाकर सुप्रीम कोर्ट के आरक्षण पर दिए फैसले को नहीं पलटा तो उसी तरह का प्रदर्शन होगा जैसे एससी-एसटी एक्ट को लेकर पूर्व में आए फैसले के खिलाफ इससे पहले हो चुका है।