×

100 Cr. से अधिक की देनदारी तो संपत्ति होगी कुर्क, नए कानून की तैयारी

aman

amanBy aman

Published on 1 March 2018 3:45 AM GMT

100 Cr. से अधिक की देनदारी तो संपत्ति होगी कुर्क, नए कानून की तैयारी
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

नई दिल्ली: केंद्र सरकार ने बैंकों को हजारों-हजार करोड़ की चपत लगाने और देश से फरार हो जाने के बढ़ते मामलों को देखते हुए सबक ली है और दूसरे डिफॉल्टर्स पर शिकंजा कसने की तैयारी कर रही है।

हाल में पीएनबी और नीरव मोदी, मेहुल चोकसी के फर्जीवाड़े तथा विजय माल्या जैसे 'भगोड़े' से सबक लेते हुए सरकार नया कानून लेन की तयारी में है। इसके तहत विदेश में बैठे जिन देनदारों पर बैंकों का 100 करोड़ रुपए या इससे ज्यादा का बकाया है, उनकी संपत्तियां कुर्क की जाएंगी।

केंद्र सरकार डिफॉल्टर्स पर कड़ा रुख अपनाने और कड़े कानून बनाने पर विचार कर रही है। बताया जा रहा है कि गुरुवार को होने वाली बैठक में इस तरह के नियमों पर चर्चा हो सकती है। हालांकि, अभी कानून के ड्राफ्ट को अंतिम रूप नहीं दिया गया है। सरकार इस संबंध में दूसरे पहलुओं पर भी विचार कर रही है। इसके अलावा कैबिनेट चार्टर्ड अकाउंटेंट को रेग्यूलेट करने के प्रस्ताव पर भी चर्चा करेगी।

वहीं, बुधवार को हुई कैबिनेट बैठक के एजेंडे में चार्टर्ड अकाउंटेंट ऑफ इंडिया के कामकाज पर निगरानी रखने के लिए एक नई संस्था नेशनल फाइनेंशियल रिपोर्टिंग अथॉरिटी के गठन पर चर्चा होनी थी, लेकिन बुधवार को इस पर कोई फैसला नहीं हुआ। गुरुवार को एक बार फिर कैबिनेट बैठक में इस पर चर्चा होगी।

aman

aman

अमन कुमार, सात सालों से पत्रकारिता कर रहे हैं। New Delhi Ymca में जर्नलिज्म की पढ़ाई के दौरान ही ये 'कृषि जागरण' पत्रिका से जुड़े। इस दौरान इनके कई लेख राष्ट्रीय, अंतरराष्ट्रीय और कृषि से जुड़े मुद्दों पर छप चुके हैं। बाद में ये आकाशवाणी दिल्ली से जुड़े। इस दौरान ये फीचर यूनिट का हिस्सा बने और कई रेडियो फीचर पर टीम वर्क किया। फिर इन्होंने नई पारी की शुरुआत 'इंडिया न्यूज़' ग्रुप से की। यहां इन्होंने दैनिक समाचार पत्र 'आज समाज' के लिए हरियाणा, दिल्ली और जनरल डेस्क पर काम किया। इस दौरान इनके कई व्यंग्यात्मक लेख संपादकीय पन्ने पर छपते रहे। करीब दो सालों से वेब पोर्टल से जुड़े हैं।

Next Story