×

मुजफ्फरपुर शेल्टर होम मामले में SC ने नागेश्वर राव को किया तलब

सुप्रीम कोर्ट ने कुख्यात मुजफ्फरपुर शेल्टर होम मामले की सुनवाई करते हुए सीबीआई के पूर्व अंतरिम निदेशक नागेश्वर राव को अवमानना का आरोपी माना है। चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली खंडपीठ ने कहा, नागेश्वर ने बिना कोर्ट की अनुमति के मुजफ्फरपुर शेल्टर होम रेप मामले की जांच कर रहे सीबीआई अधिकारी एके शर्मा का ट्रांसफर कर दिया।

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 7 Feb 2019 11:26 AM GMT

मुजफ्फरपुर शेल्टर होम मामले में SC ने नागेश्वर राव को किया तलब
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

नई दिल्ली : सुप्रीम कोर्ट ने कुख्यात मुजफ्फरपुर शेल्टर होम मामले की सुनवाई करते हुए सीबीआई के पूर्व अंतरिम निदेशक नागेश्वर राव को अवमानना का आरोपी माना है। चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली खंडपीठ ने कहा, नागेश्वर ने बिना कोर्ट की अनुमति के मुजफ्फरपुर शेल्टर होम रेप मामले की जांच कर रहे सीबीआई अधिकारी एके शर्मा का ट्रांसफर कर दिया।

ये भी देखें : बिहार : पूर्व मंत्री मंजू वर्मा की फरारी पर सुप्रीम कोर्ट ने DGP को किया तलब

सुप्रीम कोर्ट ने सीबीआई डायरेक्टर को आदेश दिया है कि वो एके शर्मा के ट्रांसफर की फाइल से जुड़े सभी अफसरों की लिस्ट उसे सौंपें। इसके साथ ही कोर्ट ने राव सहित उन सभी अधिकारियों को 12 फरवरी को उपस्थित होने का निर्देश दिया है।

ये भी देखें :देवरिया शेल्टर होम-पीड़िताओं के इंटरव्यू लेने वाले एनजीओ सदस्यों को नोटिस

क्या हुआ कोर्ट में

कोर्ट ने पूछा कि इस मामले की जांच कर रहे सीबीआई अधिकारी का ट्रांसफर किनके कहने पर हुआ।

सीबीआई के वकील ने कोर्ट को बताया, एके शर्मा के ट्रांसफर में नागेश्वर राव व दो अन्य अधिकारी शामिल थे।

कोर्ट ने कहा, आप हमारे आदेश के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं।

कोर्ट ने कहा, इस मामले का ट्रायल बिहार से बाहर करना निष्पक्ष और स्वतंत्र ट्रायल के लिए जरूरी है।

कोर्ट ने कहा, बच्चों के साथ इस तरह का व्यवहार नहीं किया जा सकता है।

ये भी देखें :बिहार शेल्टर होम रेप केस: मंत्री मंजू वर्मा का इस्तीफा, पति पर लटकी तलवार

यह है मामला

मुजफ्फरपुर शेल्टर होम रेप मामले के मुख्य आरोपी ब्रजेश ठाकुर को पूर्व मंत्री मंजू वर्मा का नजदीकी बताया जाता है। इसी मामले के चलते मंजू वर्मा को मंत्री पद से इस्तीफा देना पड़ा।

सुप्रीम कोर्ट ने 31 अक्टूबर को इस मामले की सुनवाई के समय बिहार पुलिस को फटकार लगाई थी।

ये भी देखें :मुजफ्फरपुर शेल्टर होम रेप केस: CM नीतीश बोले, गड़बड़ी करने वाले होंगे अंदर, कोई नहीं बचेगा

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story