Top

बिलकिस बानो बोलीं-दोषियों को पैरोल न मिले, क्योंकि हम जिंदगी बिना किसी डर के जीना चाहते हैं

गुजरात सामूहिक दुष्कर्म की पीड़िता बिलकिस बानो ने सोमवार (8 मई) को कहा कि अदालत द्वारा दोषी ठहराए गए 11 दोषियों को पैरोल नहीं मिलनी चाहिए।

sujeetkumar

sujeetkumarBy sujeetkumar

Published on 8 May 2017 11:18 AM GMT

बिलकिस बानो बोलीं-दोषियों को पैरोल न मिले, क्योंकि हम जिंदगी बिना किसी डर के जीना चाहते हैं
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: गुजरात सामूहिक दुष्कर्म की पीड़िता बिलकिस बानो ने सोमवार (8 मई) को कहा कि अदालत द्वारा दोषी ठहराए गए 11 दोषियों को पैरोल नहीं मिलनी चाहिए। बानो 15 वर्षो के संघर्ष के बाद एक नई जिंदगी शुरू करने की तैयारी कर रही हैं।

बानो ने इन 11 दोषियों की आजीवन कारावास की सजा को बंबई उच्च न्यायालय द्वारा बरकरार रखे जाने की प्रशंसा की। उन्होंने अदालत के 4 मई के फैसले में तीन दोषियों को मृत्युदंड देने की सिफारिश करने वाली सीबीआई की याचिका खारिज करने के फैसले का भी स्वागत किया और कहा कि वह बदला नहीं न्याय चाहती थीं हैं।

यह भी पढ़ें...बिलकिस बानो रेप केस: 11 दोषियों की उम्रकैद की सजा बरकरार, CBI की याचिका खारिज

बानो ने प्रेस क्लब में संवाददाताओं से कहा, "मैं इस फैसले से बहुत खुश हूं। इससे देश की न्याय प्रणाली और न्याय के प्रति लोगों का विश्वास बढ़ा है।"

गौरतलब है कि 2002 के गुजरात दंगों के दौरान कुछ लोगों के समूह ने बड़ी ही क्रूरता से बानो के साथ दुष्कर्म किया था और उनके परिवार के लगभग सभी सदस्यों को मौत के घाट उतार दिया था।बानो और उनके पति याकूब ने कहा कि हम अपनी जिंदगी बिना किसी डर के जीएं, इसके लिए जरूरी है कि दोषियों को पैरोल नहीं मिलनी चाहिए।

बानो ने कहा, "यह फैसला हमारे लिए एक नई शुरुआत करने का अवसर है। पिछले 15 वर्षो से हम इस डर के साए में जी रहे हैं। रहने का ठिकाना बदल रहे हैं, अपने घर लौट नहीं सके हैं। यह जरूरी है कि दोषियों को पैरोल नहीं मिलनी चाहिए।"

sujeetkumar

sujeetkumar

Next Story