BJP ने प्रशांत किशोर पर लगाया 9 करोड़ के गबन का आरोप, PK बोले-नोटिस भेजेंगे

नई दिल्ली: साल 2014 के लोकसभा चुनाव में नरेंद्र मोदी और बीजेपी को बड़ी जीत दिलाने के बाद बिहार में नीतीश को दोबारा सत्ता तक पहुंचाने वाले चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर (पीके) एक बार फिर चर्चा में हैं। लेकिन इस बार वे नकारात्मक ख़बरों के कारण सुर्ख़ियों में हैं।

बीजेपी ने प्रशांत किशोर पर आरोप लगाया है कि बिहार सरकार के ‘विजन डॉक्यूमेंट’ बनाने के लिए उन्हें 9.31 करोड़ रुपए का भुगतान किया गया था। जिस पर उन्होंने कोई काम नहीं किया। इस दौरान उन्होंने यूपी में होने वाले आगामी चुनाव के लिए कांग्रेस पार्टी के रणनीतिकार के तौर पर काम शुरू कर दिया। अब बीजेपी की मांग है कि प्रशांत किशोर को बिहार सीएम के सलाहकार पद से हटाया जाए।

ये भी पढ़ें …राहुल ने कतरे PK के पर, काबिल उम्मीदवार छांटने की प्रक्रिया से किया अलग

पीके का जवाब
इस पूरे मामले पर प्रशांत किशोर का कहना है कि ‘उन पर लगे ये आरोप झूठे हैं इसके लिए वे बीजेपी नेता सुशील मोदी को क़ानूनी नोटिस भेजेंगे।’ पीके ने बताया कि ’40 हजार गावों से विजन डॉक्यूमेंट लाया गया था। इसका काम एक कंपनी को सौंपा गया था। जिसका सभी जिलों के डीएम से वेरिफिकेशन के बाद ही पेमेंट किया गया। हालांकि कुछ जिलों में काम अभी बाकी है, जिसका पेमेंट होना है। मेरा उस कंपनी से कोई रिश्ता नहीं है।’