सुब्रमण्यम स्वामी बोले- राम मंदिर BJP के मैनिफेस्टो में था, हम उससे कैसे भाग सकते हैं?

'एनकाउंटर' वाले बयान पर स्वामी का काउंटर, कहा- दूसरी शादी के बाद मानसिक संतुलन खो बैठे हैं दिग्विजय सिंह

नई दिल्ली: भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के राज्य सभा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने राम मंदिर पर एक बार फिर बयान दिया है। सुब्रमण्यम स्वामी ने बुधवार को एक समाचार एजेंसी से बातचित में कहा, ‘राम मंदिर 2014 के लोकसभा चुनाव के समय बीजेपी के मैनिफेस्टो में शामिल था। हम उससे कैसे भाग सकते हैं? हमें वह जरूर पूरा करना होगा।’

पीएम ने कहा था, ‘जय श्री राम’
गौरतलब है कि अगले साल यूपी में विधानसभा चुनाव होने हैं। ऐसे में राम मंदिर का मुद्दा एक बार फिर सुर्खियों में है। इस बात को खास तौर पर तब बल मिला था जब लखनऊ में दशहरा कार्यक्रम में शामिल पीएम नरेंद्र मोदी ने कई बार मंच से ‘जय श्री राम’ का नारा लगाया था।

बीजेपी-सपा में राम नाम भुनाने की होड़
इसके बाद मंगलवार को केंद्रीय संस्कृति और पर्यटन मंत्री महेश शर्मा केंद्र सरकार द्वारा प्रस्तावित रामायण संग्रहालय के लिए अयोध्या में चिन्हित भूखंड का निरीक्षण करने गए थे। वहीं यूपी सरकार भी इस बार राम के नाम को भुनाने की कोशिश में लगी है।

मायावती ने मंसूबों पर उठाई उंगली
अखिलेश यादव कैबिनेट ने हाल ही में लाल बलुआ पत्थरों से ‘रामलीला थीम पार्क’ बनाने की घोषणा की थी। इसे लेकर बीजेपी ने सपा पर सवाल खड़े किए थे। वहीं, बसपा प्रमुख मायावती ने भी बीजेपी और सपा के मंसूबों पर सवाल उठाया था।

राहुल भी गए थे अयोध्या
उल्लेखनीय है कि कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी भी अपनी किसान यात्रा के दौरान अयोध्या गए थे। उन्होंने वहां पर हनुमान गढ़ी जाकर पूजा भी की थी। वह बाबरी मस्जिद के टूटने के बाद वहां पहुंचने वाले पहले गांधी थे।