×

Modi Government 8 Years: मोदी सरकार के आठ वर्ष, उज्जवला योजना ने धुंए के नहीं खुशी के आंसू दिए 

BJP Govenrment Event: सत्ता परिवर्तन होने और देश की बागडोर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के हाथ में आने के बाद उज्जवला योजना ने न जाने कितनी महिलाओं की आंखो में धुएं के नहीं बल्कि ख़ुशी के आंसू दिए।

Shreedhar Agnihotri
Updated on: 2022-05-25T23:20:16+05:30
BJP On 8 Years of Modi Government Ujjwala Yojana Scheme
X

BJP On 8 Years of Modi Government Ujjwala Yojana Scheme

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Modi Government 8 Years: देश की आजादी के बाद सत्तर वर्षो तक न जाने कितनी महिलाओं ने गांवों और शहरों में चूल्हे के धुएं से अपनी आंखो की रोशनी खराब की होगी। इस दौरान न जाने कितनी सरकारे आई पर किसी ने कमजोर निर्बल और मध्यम श्रेणी वर्ग की इस परेशानी को समझने की कोशिश ही नहीं की। पर 2014 में सत्ता परिवर्तन होने और देश की बागडोर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के हाथ में आने के बाद उज्जवला योजना ने न जाने कितनी महिलाओं की आंखो में धुएं के नहीं बल्कि ख़ुशी के आंसू दिए।

वर्ष 2016 में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने यूपी के बलिया जिले से इस योजना की शुरुआत की। उज्ज्वला योजना के दौरान, गरीबी रेखा से नीचे जीवन बिताने वाले परिवारों की पांच करोड़ महिला सदस्यों को एलपीजी कनेक्शन उपलब्ध कराने का लक्ष्य रखा गया था। इसके बाद, अप्रैल 2018 में इस योजना का विस्तार कर इसमें सात और श्रेणियों (अनुसूचित जाति / अनुसूचित जनजाति, पीएमएवाई, एएवाई, अत्यंत पिछड़ा वर्ग, चाय बागान, वनवासी, द्वीप समूह) की महिला लाभार्थियों को शामिल किया गया। इसके बाद जब इस योजना को सफलता मिली और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की लोकप्रियता और बढी तो इस योजना को आगे भी चलाए जाने का फैसला लिया गया। इस साल जब पांच राज्यों में चुनाव होने थे तो उसके पहले वित्तीय वर्ष 2021-22 के केंद्रीय बजट में पीएमयूवाई योजना के तहत एक करोड़ अतिरिक्त एलपीजी कनेक्शन के प्रावधान की घोषणा की गई थी। इन एक करोड़ अतिरिक्त पीएमयूवाई कनेक्शन (उज्ज्वला 2.0 के तहत) का उद्देश्य कम आय वाले उन परिवारों को जमा-मुक्त एलपीजी कनेक्शन प्रदान करना है, जिन्हें पीएमयूवाई के पहले चरण के तहत शामिल नहीं किया जा सका था।

पिछले साल उत्तर प्रदेष के महोबा जिले से इस योजना का दूसरा पार्टषुरू किया गया तो इसमें गरीबी रेखा से नीचे रहने वाले गरीबों को फ्री में उज्जवला योजना देने की घोषणा की गयी। इसमें बिना स्थायी पते के भी फ्री कनेक्षन देने की बात कही गयी। योजना के पहले चरण में आठ करोड महिलाओं को उज्जवला का लाभ दिया गया जिसे 2019 में पूरा किया गया।

उज्ज्वला योजना के दूसरे चरण की शुरुआत की गयी। इसके तहत महिलाओं को रसोई गैस सिलेंडर के साथ फ्री गैस चूल्हा दिया जाएगा। इस योजना दूसरे चरण की शुरुआत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 10 अगस्त 2021 को की थी। इससे पहले वर्ष 2016 में शुरू की गई उज्ज्वला योजना के दौरान गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन वाले परिवारों की 5 करोड़ महिला सदस्यों को एलपीजी का नया कनेक्शन उपलब्ध कराने का लक्ष्य रखा गया था।

Shweta Srivastava

Shweta Srivastava

Next Story