बजट में महिला: नारी को नारायणी बनाने के लिए मैडम ने क्या-क्या जतन किए

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने शुक्रवार को संसद में बजट पेश किया। इस मौके पर उन्होंने गांव, गरीब और किसान की बात की। साथ ही बजट में महिला पर विशेष जोर दिया गया है। उन्होंने ‘नारी तू नारायणी’ को सरकार का नया नारा बताते हुए महिलाओं को आर्थिक तौर पर मजबूती देने के लिए कई महत्वपूर्ण घोषणाएं की हैं।

नई दिल्ली: वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने शुक्रवार को संसद में बजट पेश किया। इस मौके पर उन्होंने गांव, गरीब और किसान की बात की। साथ ही बजट में महिला शक्ति पर खास जोर दिया गया है। उन्होंने ‘नारी तू नारायणी’ को सरकार का नया नारा बताते हुए महिलाओं को आर्थिक तौर पर मजबूती देने के लिए कई महत्वपूर्ण घोषणाएं की हैं।

इसके अलावा उन्होंने स्वयं सहायता समूह में शामिल महिलाओं को मुद्रा योजना के तहत एक लाख रुपये तक के लोन की अनुमति दी है। हालांकि अतिरिक्त टैक्स में कामकाजी महिलाओं को कोई राहत नहीं दी गई है।

यह भी पढ़ें…#Budget2019: निर्मला का ‘बही खाता’ तो देख ही चुके होंगे, अब लीजिये PM से ज्ञान

जानिए बजट में महिलाओं को क्या-क्या मिला…

-बजट में महिला के लिए ‘नारी तू नारायणी’ का नारा देते हुए कई घोषणाएं कीं। स्वामी विवेकानंद के उद्धरण का भी निर्मला सीतारणन ने जिक्र किया और कहा कि एक पंख के बिना कोई चिड़िया उड़ नहीं सकती।

-सीतारमण ने कहा, ‘ग्रामीण अर्थवस्था में महिला की भागीदारी एकदम सुनहरी कहानी है। इस सरकार ने महिलाओं की भूमिका को बढ़ाया है। महिला केंद्रित पॉलिसी के तहत महिला लीडरशिप को आगे लाने की कोशिश की जा रही है।’

-मुद्रा योजना से स्वयं सहायता समूह में शामिल प्रत्येक महिला को एक लाख रुपये तक के लोन की घोषणा। महिलाओं को जनधन खाते में 5 हजार तक के ओवरड्राफ्ट की अनुमति।

यह भी पढ़ें…#Budget2019: 5 लाख तक की सालाना आय वालों को टैक्स देने की जरूरत नहीं

-स्टैंडअप इंडिया स्कीम के तहत महिलाओं, अनुसूचित जाति और जनजाति के लोगों को लाभ मिलेगा।

-बजट में महिला पर उन्होंने कहा, ‘इस सरकार का मानना है कि हम अधिक से अधिक महिलाओं की भागीदारी के साथ प्रगति कर सकते हैं। यह सरकार महिला आंत्रप्रेन्योरशिप को प्रमोट कर रही है। मुद्रा, स्टार्टअप और स्टैंडअप स्कीम के तहत प्राथमिकता दी जा रही है।’

– केंद्रीय वित्तमंत्री ने कहा, ‘ग्रामीण अर्थव्यवस्था में महिलाओं की भागीदारी एक सुनहरी कहानी है। ऐसा कोई सेक्टर नहीं है, जहां महिलाओं का अद्भुत योगदान न रहा हो।’

यह भी पढ़ें…लगी शर्त! #बजट तो बहुत देखे होंगे आपने, लेकिन इन शब्दों का अर्थ नहीं जानते होंगे आप

-निर्मला सीतारमण ने कहा, ‘देश को नई ऊंचाइयों तक ले जाना है। उज्ज्वला योजना की वजह से देश की महिलाओं को धुएं से छुटकारा मिला है, हमने महिलाओं के सम्मान के लिए शौचालय बनवाएं हैं।’