CAB: असम के कई जिले संवेदनशील, बढ़ाई गई सुरक्षा, गुवाहाटी-डिब्रूगढ़ में कर्फ्यू

नागरिकता संशोधन बिल पर पूर्वोत्तर में घमासान जारी है। असम में बुधवार को भी कई जगह विरोध प्रदर्शन हुए। इसके अलावा त्रिपुरा में विरोध के स्वर गूंज रहे है। पुलिस ने असम में भीड़ को खदेड़ने के लिए आंसू गैस का भी इस्तेमाल किया। असम- प्रदर्शनकारियों ने चाबुआ और पनिटोला रेलवे स्टेशन में तोड़फोड़ की और आग लगाई।

Published by suman Published: December 12, 2019 | 8:53 am
Modified: December 12, 2019 | 9:10 am

गुवाहाटी:नागरिकता संशोधन बिल पर पूर्वोत्तर में घमासान जारी है। असम में बुधवार को भी कई जगह विरोध प्रदर्शन हुए। इसके अलावा त्रिपुरा में विरोध के स्वर गूंज रहे है। पुलिस ने असम में भीड़ को खदेड़ने के लिए आंसू गैस का भी इस्तेमाल किया।

असम- प्रदर्शनकारियों ने चाबुआ और पनिटोला रेलवे स्टेशन में तोड़फोड़ की और आग लगाई। डिब्रूगढ़ और तिनसुकिया रेलवे स्टेशनों को उच्च अलर्ट पर रखा गया।

इन जगहों पर अनिश्चितकालीन कर्फ्यू लगा दिया गया है।नागरिकता संशोधन बिल को लेकर पूर्वोत्तर में चल रहे विरोध के बाद स्पाइसजेट, विस्तारा, इंडिगो ने असम जाने वाली अपनी सभी फ्लाइट को रद्द कर दिया है।

यह पढ़ें…अयोध्या केस: SC के 5 नए जजों की बेंच, पुनर्विचार याचिकाओं पर आज करेंगे सुनवाई

नागरिकता संशोधन विधेयक को लेकर व्यापक विरोध प्रदर्शन के बीच बिगड़ती कानून व्यवस्था को संभालने के लिए बुधवार को असम के गुवाहाटी में लगाए गए कर्फ्यू को अनिश्चिकाल के लिए बढ़ा दिया गया है।

असम के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (कानून और व्यवस्था) मुकेश अग्रवाल ने कहा कि शाम छह बजकर 15 मिनट पर कर्फ्यू लगाया गया था जिसे अनिश्चितकाल के लिए बढ़ा दिया गया है।

उन्होंने कहा कि हम समय-समय पर स्थिति की समीक्षा करेंगे और उसी के अनुसार कर्फ्यू हटाने के संबंध में निर्णय लेंगे। इससे पूर्व असम के पुलिस महानिदेशक  ने बताया था कि कर्फ्यू बृहस्पतिवार की सुबह सात बजे तक प्रभावी रहेगा।

विभिन्न संगठनों द्वारा रेल रोको आंदोलन के चलते रेलवे ने तिनसुकिया और लुम्डिंग डिवीजन की 12 ट्रेनों को कैंसिल किया और 10 ट्रेनों को आंशिक रूप से रद्द किया।

असम के लखीमपुर, दिसपुर, तिनसुकिया, धेमजी, डिब्रूगढ़, चराईदेव, सिवासागर, जोरहाट, गोलाघाट, कामरूप (मेट्रो) और कामरूप में शाम सात बजे से 12 दिसंबर सुबह सात बजे तक इंटरनेट सेवाएं बंद। डिब्रूगढ़ के डीएम ने शराब की दुकानों को बंद करने का आदेश दिया है।

बुधवार को ऐसी रही गतिविधि

भारतीय सेना ने कहा, असम और त्रिपुरा ने सेना की तीन टुकड़ियों की मांग की है। दो टुकड़ियां त्रिपुरा में तैनात की गई है और एक टुकड़ी असम में है। पुलिस ने बताया कि स्थिति पर काबू पाने के लिए डिब्रूगढ़ में पुलिस ने प्रदर्शनकारियों पर रबड़ की गोलियां चलाई और लाठीचार्ज भी किया।

वहीं गुवाहाटी में छात्रों ने मुख्य जीएस मार्ग बंद कर दिया जिसके बाद सचिवालय के निकट पुलिसकर्मियों के साथ झड़प की खबर है। पुलिस ने छात्रों को तितर-बितर करने के लिए लाठी चार्ज किया और आंसू गैस के गोले दागे।

पुलिस ने बताया कि डिब्रूगढ़ शहर में एक पॉलिटेक्निक संस्थान के निकट प्रदर्शकारियों को तितर-बितर करने के लिए पुलिस ने आंसू गैस के गोले दागे। प्रदर्शनकारियों द्वारा की जा रही पत्थरबाजी में एक पत्रकार भी घायल हो गया।

यह पढ़ें…कमलनयन पाण्डेय, बृजलाल द्विवेदी स्मृति पत्रकारिता सम्मान से किए जाएंगे अलंकृत

इस पहले अधिकारियों ने बताया कि सड़कों पर टायर जलाए गए हैं। वाहनों और ट्रेन की आवाजाही रोकने के लिए सड़कों और पटरियों पर लकड़ियों के कुंदे रख दिए गए हैं। डिब्रूगढ़ में चौलखोवा में रेलवे पटरियों और सड़कों से प्रदर्शनकारियों को हटाने के लिए लाठीचार्ज भी किया।

जिले के मोरन में प्रदर्शनकारियों पर लाठीचार्ज किया गया और रबड़ की गोलियां चलाई गई। वहीं, त्रिपुरा की राजधानी अगरतला में भी लोगों ने नागरिक संशोधन विधेयक के खिलाफ प्रदर्शन किया।

बड़ी संख्या में लोग सड़क पर उतरे और सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया।  पूर्वोत्तर सीमांत रेलवे ने कई ट्रेनें रद्द की और कई की समय-सारिणी बदली गई है।

विरोध प्रदर्शन को देखते हुए पूर्वोत्तर सीमांत रेलवे ने बुधवार को कई ट्रेनें रद्द कर दी और राज्य से चलने वाली कई ट्रेनों की समय-सारिणी बदल दी।

पूर्वोत्तर सीमांत रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी  ने एक बयान में कहा कि कम से कम 14 ट्रेनों को या तो रद्द कर दिया गया है या गंतव्य स्थान से पहले ही रोक दिया गया है या फिर ‘ट्रेन परिचालन’ में बाधा को देखते हुए उनके रास्ते बदल दिए गए हैं।