×

कावेरी विवाद: तमिलनाडु में सुरक्षा कड़ी, AIADMK ने बताया 'गंभीर अन्याय'

aman

amanBy aman

Published on 16 Feb 2018 6:15 AM GMT

कावेरी विवाद: तमिलनाडु में सुरक्षा कड़ी, AIADMK ने बताया गंभीर अन्याय
X
कावेरी विवाद: तमिलनाडु में सुरक्षा कड़ी, AIADMK ने फैसले को बताया 'गंभीर अन्याय'
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

नई दिल्ली: कावेरी जल विवाद पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बाद तमिलनाडु में बवाल की आशंका को देखते हुए सतर्कता बढ़ा दी गई है। इस बीच ऑल इंडिया अन्ना द्रविड़ मुनेत्र कषगम (एआईएडीएमके) नेता वी मैत्रेययन ने फैसले पर तात्कालिक प्रतिक्रिया में कहा, कि 'फैसला तमिलनाडु के लोगों के साथ 'गंभीर अन्याय' है।'

हालांकि, उन्होंने उम्मीद जताई कि कर्नाटक सरकार सुप्रीम कोर्ट के आदेश का सम्मान करेगी और तमिलनाडु को आवश्यक पानी जारी करेगी। साथ ही उन्होंने यह भी कहा, कि वे फैसले का विस्तार से अध्ययन करने के बाद ही इस पर अंतिम रूप से कुछ कह सकेंगे।

ये भी पढ़ें ...कावेरी विवाद पर ‘सुप्रीम’ फैसला, कोर्ट ने कहा- नदी का पानी राष्ट्रीय संपत्ति

मामले की संवेदनशीलता को देखते हुए तमिलनाडु सरकार ने चेन्नई समेत कर्नाटक की सीमा से सटे इलाकों में सतर्कता बढ़ा दी है। शहर में कड़ी सुरक्षा के सभी बंदोबस्त किए गए हैं। कर्नाटक की ओर जाने वाली बसों को निरस्त कर दिया गया है या कुछ बसों का रूट बदल कर आंध्र प्रदेश की तरफ कर दिया गया है। सभी अंतरराज्यीय बसों की सुरक्षा में जवानों को तैनात कर दिया गया है। सभी कट्टरपंथी तमिल संगठनों और उपद्रवियों पर नजर रखी जा रही है। स्कूलों, बैंकों, संस्थाओं, होटलों आदि की सुरक्षा बढ़ा दी गई है।

aman

aman

अमन कुमार, सात सालों से पत्रकारिता कर रहे हैं। New Delhi Ymca में जर्नलिज्म की पढ़ाई के दौरान ही ये 'कृषि जागरण' पत्रिका से जुड़े। इस दौरान इनके कई लेख राष्ट्रीय, अंतरराष्ट्रीय और कृषि से जुड़े मुद्दों पर छप चुके हैं। बाद में ये आकाशवाणी दिल्ली से जुड़े। इस दौरान ये फीचर यूनिट का हिस्सा बने और कई रेडियो फीचर पर टीम वर्क किया। फिर इन्होंने नई पारी की शुरुआत 'इंडिया न्यूज़' ग्रुप से की। यहां इन्होंने दैनिक समाचार पत्र 'आज समाज' के लिए हरियाणा, दिल्ली और जनरल डेस्क पर काम किया। इस दौरान इनके कई व्यंग्यात्मक लेख संपादकीय पन्ने पर छपते रहे। करीब दो सालों से वेब पोर्टल से जुड़े हैं।

Next Story