×

#CBIVsMamata : राजीव को CBI के सामने पेश होने का निर्देश, नहीं होगी गिरफ्तारी

पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी का तीसरे दिन धरना जारी है। कोलकाता के कमिश्‍नर राजीव कुमार के खिलाफ सीबीआई द्वारा की गई कार्रवाई के खिलाफ ममता यह धरना दे रही हैं।

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 5 Feb 2019 3:57 AM GMT

#CBIVsMamata : राजीव को CBI के सामने पेश होने का निर्देश, नहीं होगी गिरफ्तारी
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

कोलकाता : पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी का तीसरे दिन धरना जारी है। कोलकाता के कमिश्‍नर राजीव कुमार के खिलाफ सीबीआई द्वारा की गई कार्रवाई के खिलाफ ममता यह धरना दे रही हैं। आपको बता दें, कमिश्नर राजीव कुमार को सीबीआई के सामने पेश होना पड़ेगा। राजीव कुमार मेघालय के शिलांग में पेश होंगे।

सुप्रीम कोर्ट ने उन्हें नोटिस जारी किया है। कोर्ट की ओर से अवमानना मामले में नोटिस जारी कर किया गया है। नोटिस का जवाब 18 फरवरी तक दाखिल करना होगा। मामले की अगली सुनवाई 20 फरवरी को होगी। चीफ जस्टिस ने कहा कि डीजीपी, पुलिस कमिश्नर और चीफ सेक्रेटरी को 20 फरवरी को सुप्रीम कोर्ट में पेश होना होगा।

पॉइंट्स में जानिए क्या हुआ आज

राजीव को गिरफ्तारी से राहत, लेकिन सीबीआई के सामने होना होगा पेश।

सीबीआई की अवमानना याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने जारी किया नोटिस।

मामले की अगली सुनवाई 20 फरवरी को होगी।

डीजीपी, पुलिस कमिश्नर और चीफ सेक्रेटरी को 20 फरवरी को सुप्रीम कोर्ट में पेश होना होगा।

ममता बनर्जी ने कहा कि यह सिर्फ मेरी जीत नहीं बल्कि देश की जीत है, संविधान की जीत है।

ममता सरकार की तरफ से पेश हुए वकील अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा, सीबीआई जांच के नाम पर पुलिसवालों को परेशान कर रही है।

ये भी देखें : ममता Vs सीबीआई-लाइव: धरने पर बैठी ममता, राहुल ने कहा- हम कंधे से कंधा मिलाकर खड़े हैं

चर्चित चिट फंड घोटाला मामले में सीबीआई के 40 अफसरों की टीम रविवार को कोलकाता पुलिस कमिश्‍नर राजीव कुमार से पूछताछ करने लाउडन स्ट्रीट स्थित आवास पर पहुंची।

जांच दल को गेट पर ही रोक दिया गया। इसके बाद पुलिस ने उन्‍हें गिरफ्तार कर शेक्सपियर सरनी पुलिस थाने पहुंचा दिया।

सूत्रों के मुताबिक इस दौरान धक्का-मुक्की, हाथापाई भी हुई। कुछ ही देर में खबर आग की तरह देश भर में फैल गई मामले ने जब तूल पकड़ा तो अफसरों को छोड़ दि‍या गया।

सीएम ममता इसके बाद अपने दलबल के साथ कमिश्‍नर राजीव के घर पहुंची।

ये भी देखें : CBI टीम को कोलकाता पुलिस को छोड़ा, ममता ने कहा- देश में इमरजेंसी से भी बुरे हालात

ममता ने कहा, सीबीआई बगैर तलाशी वॉरंट के कमिश्नर के आवास पर पहुंची ये गलत है लोकतंत्र के खिलाफ है। मैं यकीन दिला सकती हूं…मैं मरने के लिए तैयार हूं, लेकिन मैं मोदी सरकार के आगे झुकने के लिए तैयार नहीं हूं। हम आपातकाल लागू नहीं करने देंगे। कृपया भारत को बचाएं, लोकतंत्र बचाएं, संविधान बचाएं।

आपको बता दें, चिटफंड घोटाले में ममता सरकार और उनकी पार्टी बुरी तरह फंसी है ममता इस घोटाले के आरोपियों को संरक्षण कैसे दे रही हैं ये बात समझ के परे है।

फिलहाल ममता रात करीब 9 बजे से कोलकाता के मेट्रो चैनल पर धरने पर बैठी हैं।

पुलिस ने सीबीआई के दोनों ऑफिस पर भी कब्जा कर लिया था जिसे बाद में सीआरपीएफ ने मुक्त कराया।

ममता के धरने को अखिलेश यादव, तेजस्वी यादव, चंद्रबाबू नायडू, उमर अब्दुल्ला, अहमद पटेल और एम के स्टालिन ने समर्थन दिया है।

अब सीबीआई आज इस मामले को सुप्रीम कोर्ट में उठाने वाली है। ये कोर्ट के अपमान से भी जुड़ा मामला है। अब देखना होगा कि कोर्ट क्या निर्णय लेता है।

ममता अब सेना और देश भर के सुरक्षा बलों को भी मोदी सरकार के रवैये की निंदा करने को कह रही हैं।

सीबीआई ने सोमवार यानि आज इस मुद्दे पर उच्चतम न्यायालय में याचिका दायर की थी जिस पर कल सुनवाई होगी। आज हुई सुनवाई के दौरान सरकारी वकील ने कहा कि इस मुद्दे पर आज ही सुनवाई हो जिस पर कोर्ट ने कहा कि हम इस पर कल सुनवाई करेंगे।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story