CBSE ने शहीद सैनिकों के बच्चों को बोर्ड परीक्षा में दी बड़ी राहत

आतंकी हमलों में शहीद जवानों के बच्चों को केन्द्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) ने बड़ी राहत दी है। 10वीं व 12वीं की परीक्षा दे रहे शहीदों के बच्चे अगर चाहें तो अपने शहर में परीक्षा केंद्र में परिवर्तन कर सकते हैं। इसके अलावा, उन्हें परीक्षा का शहर बदलने की भी छूट दी गई है।

नई दिल्ली: आतंकी हमलों में शहीद जवानों के बच्चों को केन्द्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) ने बड़ी राहत दी है। 10वीं व 12वीं की परीक्षा दे रहे शहीदों के बच्चे अगर चाहें तो अपने शहर में परीक्षा केंद्र में परिवर्तन कर सकते हैं। इसके अलावा, उन्हें परीक्षा का शहर बदलने की भी छूट दी गई है।

यह भी पढ़ें…..पुलवामा शहीदों को आठ दिन में ही भूली यूपी पुलिस, विदाई समारोह में अफसरों ने लगाये ठुमके

इतना ही नहीं अगर उनकी प्रैक्टिकल परीक्षा छूट गई है तो वह दोबारा सहूलियत के हिसाब से 10 अप्रैल तक स्कूल स्तर पर कराई जा सकेगी। सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि यदि कोई परीक्षार्थी किसी विषय के पेपर को बाद में देना चाहता है तो उसे भी अनुमति है।

यह भी पढ़ें…..UP एटीएस की बड़ी कार्रवाई, देवबंद से जैश-ए-मोहम्मद का आतंकी गिरफ्तार

बोर्ड का कहना है कि इसकी सूचना परीक्षार्थी को स्कूल के माध्यम से 28 फरवरी तक देनी होगी ताकि बोर्ड आगे के लिए पूरा कार्यक्रम जारी कर सके और बच्चों को सुविधा अनुसार उनके पेपर और प्रैक्टिकल पूरे करा सकें।

यह भी पढ़ें…..मेरठ: फाइनेंस कंपनी से पांच करोड़ का सोना लूटा, बाइक नहीं स्टार्ट हुई तो पैदल ही भागा लुटेरा

सीबीएसई के परीक्षा नियंत्रक संयम भारद्वाज ने कहा कि अगर ऐसे बच्चे प्रायोगिक परीक्षा नहीं दे पाते हैं तो उनकी सुविधा के हिसाब से 10 अप्रैल तक यह परीक्षा आयोजित हो सकती है। अगर वह किसी भी ऑफर्ड विषय की परीक्षा बाद में देना चाहते हैं तो उन्हें ऐसा करने दिया जाएगा। उन्होंने ये भी बताया कि ऐसे उम्मीदवार स्कूलों को अपना आग्रह भेज सकते हैं और स्कूल उस आग्रह को आगे संबंधित क्षेत्रीय कार्यालय में सीबीएसई द्वारा आगे की कार्रवाई के लिए भेजेगा।