Chandrayaan-2: मिल गया विक्रम लैंडर, नासा ने जारी की तस्वीर

सोमवार को अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा को इस साल सितंबर में चंद्रमा की सतह पर दुर्घटनाग्रस्त हुए चंद्रयान-2 के विक्रम लैंडर का पता लग चुका है।

Published by Shreya Published: December 3, 2019 | 9:15 am
Modified: December 3, 2019 | 9:54 am
Chandrayaan-2: मिल गया विक्रम लैंडर, नासा ने जारी की तस्वीर

Chandrayaan-2: मिल गया विक्रम लैंडर, नासा ने जारी की तस्वीर

नई दिल्ली: सोमवार को अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा को इस साल सितंबर में चंद्रमा की सतह पर दुर्घटनाग्रस्त हुए चंद्रयान-2 के विक्रम लैंडर का पता लग चुका है। नासा ने इसकी एक तस्वीर भी जारी किया है। नासा ने अपने लूनर रेकॉन्सेन्स ऑर्बिटर (एलआरओ) द्वारा ली गई जो तस्वीर जारी किया है, उसमें अंतरिक्ष यान से प्रभावित जगह दिखाई पड़ी है। नासा ने एक बयान में कहा है कि, चंद्रयान 2 के विक्रम लैंडर हमारे @NASAMoon मिशन द्वारा पाया गया है। तस्वीार में नीले और हरे डॉट्स के माध्यम से विक्रम लैंडर के मलबे वाले क्षेत्र को दिखाया गया है।

बता दें कि, 7 सितंबर को चंद्रयान-2 के विक्रम लैंडर का संपर्क उस वक्त टूट गया था, जब वो चांद की सतह से केवल 2.1 किलोमीटर की दूरी पर था।

यह भी पढें: पावर में पवार ने मोदी को लेकर कही ये बड़ी बात, सत्ता गलियारे में शुरू हुई हलचल

नासा ने अपने बयान में कहा कि, शनमुगा सुब्रमण्यन नाम के एक व्यक्ति ने मलबे की एक सकारात्मक पहचान की थी। शानमुगा द्वारा मुख्य दुर्घटनास्थल के उत्तर-पश्चिम में लगभग 750 मीटर की दूरी पर स्थित मलबे की पहचान की गई थी। जो कि पहले मोजेक (1.3 मीटर पिक्सल, 84 डिग्री घटना कोण) में एक एकल उज्ज्वल पिक्सील पहचान थी। नवंबर मोज़ेक मलबा क्षेत्र को सबसे अच्छा दिखाता है। बयान में कहा गया है कि, मलबे के तीन सबसे बड़े टुकड़े 2×2 पिक्सेल के हैं।

गौरतलब है कि, इसी साल 7 सितंबर 2019 को भारत चंद्रयान-2 के लैंडर विक्रम का इसरो मुख्या लय से संपर्क टूट गया था। ये संपर्क उस वक्त टूटा जब विक्रम लैंडर चाद की सतह से महज चांद की सतह से केवल 2.1 किलोमीटर की दूरी पर था।

यह भी पढें: सोने-चांदी की चमक पड़ी फीकी, जानिए कितनी आई गिरावट

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App