×

बिहार में छठ की तैयारी आरंभ, पहला अघ्र्य 26 अक्टूबर को

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 21 Oct 2017 11:54 AM GMT

बिहार में छठ की तैयारी आरंभ, पहला अघ्र्य 26 अक्टूबर को
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

पटना : सूर्यपासना के पर्व छठ को लेकर बिहार की राजधानी पटना सहित राज्य के सभी क्षेत्रों में तैयारियां जोर-शोर से चल रही हैं। पटना में गंगा के घाटों की मरम्मत और सफाई का कार्य लगभग पूरा हो गया है।

सूर्य को पहला अघ्र्य 26 अक्टूबर को दिया जाएगा। पटना के जिलाधिकारी संजय कुमार अग्रवाल ने शनिवार को बताया कि फिलहाल गंगा के घाटों के एप्रोच (संपर्क) पथों को बनाने का कार्य चल रहा है। उन्होंने कहा कि सभी घाटों में 80 प्रतिशत काम पूरा हो चुका है, अगले तीन दिनों में सफाई और रोशनी की व्यवस्था पूरी कर ली जाएगी। व्रतियों को कोई कष्ट नहीं हो, इसका ख्याल रखा जा रहा है।

ये भी देखें: जयपुर में भी प्रकृति पर्व छठ की रहेगी धूम, रोशनी व सुरक्षा के उचित प्रबंध

अग्रवाल ने बताया कि महेंद्रू, कलेक्ट्रट और बांस घाट के एक साथ जुड़ जाने के कारण इस क्षेत्र में गंगा तट का एक जोन बनाया गया है। इस जोन तक पहुंचने के लिए छह संपर्क पथों का निर्माण कराया गया है। दो पथों पर लोग सिर्फ पैदल चल सकेंगे। शौचालयों का भी निर्माण कराया जा रहा है।

उन्होंने बताया कि छठ के मौके पर शहरी और ग्रामीण क्षेत्र के सभी छठ घाटों और तालाब, पोखरों जहां छठ पर्व मनाया जााता है, वहां गोताखोरों की तैनाती की जाएगी।

ये भी देखें:सूर्य उपासना का महापर्व छठ, इस मुहूर्त में दें अर्घ्य व ऐसे करें पूजन

इस वर्ष सूयरेपासना का महापर्व छठ का चार दिवसीय अनुष्ठान नहाय-खाय के साथ मंगलवार (24 अक्टूबर) से शुरू होगा। भगवान भास्कर को सायंकालीन अघ्र्य 26 अक्टूबर की शाम, जबकि 27 अक्टूबर की सुबह सूर्य देवता को प्रात:कालीन अघ्र्य प्रदान करने के साथ इस अनुष्ठान का समापन होगा।

आचार्य जयकुमार पाठक ने बताया कि कार्तिक शुक्ल पक्ष पंचमी बुधवार (25 अक्टूबर) को व्रती खरना करेंगे।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story