BIG BREAKING: राम मंदिर पर खत्म हुआ इंतजार, इस दिन आएगा फैसला

अयोध्या राम मंदिर मुद्दे पर सुनवाई शुरू हो गई है। बुद्धवार को इस मामले पर सुनवाई 26वां दिन है। संवैधानिक बेंच के प्रमुख और सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस ने मामले में दलीलों के लिए भी डेडलाइन तय की है। चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने 18 अक्टूबर तक दलीलें पूरी करने की डेडलाइन तय की है।

Published by Dharmendra kumar Published: September 18, 2019 | 11:32 am
Modified: September 18, 2019 | 11:35 am

नई दिल्ली: अयोध्या राम मंदिर मुद्दे पर सुनवाई शुरू हो गई है। बुद्धवार को इस मामले पर सुनवाई 26वां दिन है। संवैधानिक बेंच के प्रमुख और सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस ने मामले में दलीलों के लिए भी डेडलाइन तय की है। चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने 18 अक्टूबर तक दलीलें पूरी करने की डेडलाइन तय की है।

चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने कहा कि हमें उम्मीद है कि हम अयोध्या राम जन्मभूमि मामले में 18 अक्टूबर तक सुनवाई पूरी कर लेंगे।

यह भी पढ़ें…PAK बैट कमांडो और आतंकी की ‘नापाक’ हरकत, सेना ने दिया करारा जवाब

चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने सुनवाई करते हुए कहा कि एक महीने में बहस पूरी करने के लिए सभी पक्षों को कोशिश करनी पड़ेगी। जरूरत पड़ी तो हम शनिवार को भी सुनवाई के लिए तैयार हैं। इसके बाद हमें फैसला लिखने के लिए चार हफ्तों का समय मिलेगा।

चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने आगे कहा कि मध्यस्थता को लेकर पत्र मिला। अगर पक्ष आपसी बातचीत से मसले का समझौता करना चाहते हैं तो इसे कोर्ट के समक्ष रखे। आप मध्यस्थता कर सकते हैं और इसकी गोपनीयता बनी रहेगी।

यह भी पढ़ें…छात्रों के लिए खुशखबरी, कट ऑफ से नहीं होगा ऐडमिशन, ये नियम लागू करेगी सरकार

चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की इस डेडलाइन के बाद माना जा रहा है कि नवंबर तक अयोध्या में राम मंदिर पर फैसला आ सकता है। यह मुद्दा राजनीतिक और सामाजिक व्यवस्था के लिहाज से काफी संवेदनशील है।

बता दें कि सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस 17 नवंबर को रिटायर होने वाले हैं। ऐसे में उनके रिटायरमेंट से पहले फैसला आने की संभावना है।

यही नहीं सुप्रीम कोर्ट ने हर दिन सुनवाई को एक घंटा बढ़ाने और यदि जरूरत हो तो शनिवार को भी सुनवाई किए जाने का सुझाव दिया

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App