Top

भारत से लापता हुए ये 5 नागरिक 8 दिन बाद चीन की कैद से आज होंगे रिहा

भारत चीन सीमा विवाद के बीच आज की बड़ी खबर अरुणाचल प्रदेश से आ रही है। चीन अगवा किये गये पांच भारतीय नागरिकों को आज किसी भी वक्त भारत को सौंप सकता है।

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 12 Sep 2020 5:21 AM GMT

भारत से लापता हुए ये 5 नागरिक 8 दिन बाद चीन की कैद से आज होंगे रिहा
X
बातचीत के दौरान दोनों देशों में चल रहे तनाव पर चर्चा हुई थी। दोनों ही देशों के विदेश मंत्रियों ने तनाव खत्म करने पर सहमति जताई थी।
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: भारत चीन सीमा विवाद के बीच आज की बड़ी खबर अरुणाचल प्रदेश से आ रही है। चीन अगवा किये गये पांच भारतीय नागरिकों को आज किसी भी वक्त भारत को सौंप सकता है। बताया जा रहा है कि ये सब भारत और चीन के विदेशमंत्री के बीच शांतिपूर्ण बातचीत के बाद मुमकिन हो पाया है।

रिहा किये जाने वाले सभी पांच भारतीय नागरिक बीते दिनों रहस्यमयी ढंग से अरुणाचल प्रदेश से लापता हो गये थे। केंद्रीय मंत्री और अरुणाचल का प्रतिनिधित्व करने वाले किरण रिजिजू ने ट्वीट कर इस बारे में अवगत कराया है। चीन की सेना आज अरुणाचल के इन पांच नागरिकों को भारतीय सेना के हवाले करेगी।

जानकारी के मुताबिक 9:30 बजे के लगभग चीनी सेना इन युवकों को भारतीय सैनिकों को हैण्ड ओवर करेगी। चीन के सैनिक इन युवकों को किबितू बॉर्डर के पास वाछा इलाके में लेकर आएंगे और भारतीय सेना को सौंप देंगे।

Army एलएसी पर पहरा देते भारतीय सैनिक की फोटो(साभार-सोशल मीडिया)

ये भी पढ़ेंः वेतन कटौती का बिल पास:मंत्री-विधायकों पर बड़ा फैसला, अब कटेगी 30 फीसदी सैलेरी

गलती से किया था बॉर्डर पार

प्राप्त जानकारी के अनुसार ये सभी पांचों भारतीय नागरिक अरुणाचल प्रदेश के रहने वाले हैं। वे सभी बीते दिनों गलती से बॉर्डर पार कर चीन की सीमा में दाखिल हो गये थे। जिसके बाद चीनी सेना ने उन्हें कैद कर लिया लिया था।

बताया जाता है कि ये युवक अपर सुबानसिरी जिले से 4 सितंबर को गलती से एलएसी के पार चले गए थे। जिन युवकों को सौंपा जाना है उनके नाम हैं तोच सिंगकम, प्रसात रिंगलिंग, डोंग्टू इबिया, तनु बाकर और नगारु डिरी।

ये भी पढ़ेँः कांग्रेस में फेरबदल: राहुल की ताजपोशी का रास्ता साफ, पसंदीदा लोगों को तरजीह

China चीन के ध्वज की फोटो(सोशल मीडिया)

चीनी ऐसे हुआ राजी

गौरतलब है कि 10 सितंबर को रूस की राजधानी मॉस्को में भारत और चीन के विदेश मंत्रियों की बैठक हुई थी। जिसमें भारत के विदेश मंत्री एस जयशंकर और चीन के विदेश मंत्री के बीच मुलाकात हुई थी।

बातचीत के दौरान दोनों देशों में चल रहे तनाव पर चर्चा हुई थी। दोनों ही देशों के विदेश मंत्रियों ने तनाव खत्म करने पर सहमति जताई थी।

इस दौरान पांचों अगवा किये गये भारतीय नागरिकों का मुद्दा भी भारत की तरफ से उठाया गया था।

जिसके बाद चीन उन्हें छोड़ने के लिए राजी हुआ।

इससे पहले मार्च में 21 साल के युवक को 19 दिन तक रखने के बाद चीनी आर्मी ने छोड़ा था। भारत और चीन के बीच लद्दाख इलाके में करीब चार महीने से जारी तनाव को देखते हुए माहौल ठीक करने की दिशा में इसे अच्छी कोशिश के तौर पर देखा जा रहा है।

ये भी पढ़ें- दुनियाभर में जारी है कोरोना वायरस का कहर, अब तक 28,331,121 लोग संक्रमित

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Newstrack

Newstrack

Next Story