CM फडणवीस ने नहीं चुकाया पानी का बिल, सरकारी आवास ‘वर्षा’ डिफॉल्टर घोषित

विधानसभा चुनाव के किनारे पर खड़े महाराष्ट्र से एक बेहद दिलचस्प मामला सामने आया है. बॉम्बे नगरपालिका ने राज्य के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के सरकारी आवास ‘वर्षा’ को डिफॉल्टर घोषित कर दिया है।

नई दिल्ली: विधानसभा चुनाव के किनारे पर खड़े महाराष्ट्र से एक बेहद दिलचस्प मामला सामने आया है। बॉम्बे नगरपालिका ने राज्य के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के सरकारी आवास ‘वर्षा’ को डिफॉल्टर घोषित कर दिया है। फडणवीस के घर का करीब साढ़े सात लाख रुपये (कुल 7,44,981) का पानी का बिल बकाया है, यही कारण है कि आवास को डिफॉल्टर घोषित कर दिया गया है। सिर्फ मुख्यमंत्री ही नहीं बल्कि राज्य सरकार में कुल 18 मंत्रियों को डिफॉल्टर घोषित कर दिया गया है।

यह भी देखें… CJI रंजन गोगोई ने जज को हटाने की सिफारिश, PM मोदी को लिखा पत्र

दरअसल, एक आरटीआई के द्वारा ये मामला सामने आया है। जिसमें पता लगा है कि महाराष्ट्र में बने सरकारी आवासों यानी मंत्रियों या नेताओं के आवास पर ही बीएमसी का करीब 8 करोड़ रुपये का बकाया है। आरटीआई के खुलासे के बाद वो नाम भी सामने आने लगे हैं, जिनपर ये राशि बकाया है।

हैरान करने वाली बात यही है कि इस लिस्ट में सबसे पहला नाम राज्य के मुख्यमंत्री का ही है। इसके अलावा भी अगर स्थानीय मीडिया की रिपोर्ट देखें, तो उनके अलावा इस लिस्ट में पंकजा मुंडे, एकनाथ शिंदे, सुधीर मुनगंटीवार, विनोद तावड़े जैसे राज्य के बड़े नेताओं का नाम शामिल है।

बॉम्बे नगरपालिका पर शिवसेना और भारतीय जनता पार्टी का ही कब्जा है और ये कब्जा बीते लंबे समय से बरकरार है।

यह भी देखें… चेन्नई में जलसंकट, स्टालिन के नेतृत्व में AIADMK के खिलाफ DMK का प्रदर्शन आज

राज्य में जल्द ही विधानसभा चुनाव होने वाले हैं और भारतीय जनता पार्टी एक बार फिर देवेंद्र फडणवीस की अगुवाई में ही चुनाव लड़ने जा रही है। देवेंद्र फडणवीस जल्द ही राज्य में एक रथ यात्रा निकालने वाले हैं, जिसके जरिए वह हर विधानसभा को कवर करेंगे। चुनाव से पहले सामने आई ये लिस्ट विरोधियों को मुख्यमंत्री पर निशाना साधने का मौका दे सकती है।

भाजपा ने इस बार राज्य में अबकी बार 220 पार का लक्ष्य रखा है। तो वहीं कुछ दिन पहले ही शिवसेना ने अपने स्थापना दिवस के अवसर पर लिखे गए सामना में लेख में लिखा था कि उनकी इच्छा है कि महाराष्ट्र का मुख्यमंत्री शिवसेना से ही हो।