बीजेपी नेताओं और उनके बेटों पर छापेमारी क्यों नहीं हो रही?: कांग्रेस

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ के कुछ करीबियों पर आयकर विभाग के छापे को लेकर कांग्रेस ने सोमवार को आरोप लगाया कि नरेंद्र मोदी सरकार में राजनीतिक विरोधियों के खिलाफ चुन चुनकर एजेंसियों का दुरुपयोग किया जा रहा है।

अहमद पटेल की फ़ाइल फोटो

अहमद पटेल की फ़ाइल फोटो

नई दिल्ली: मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ के कुछ करीबियों पर आयकर विभाग के छापे को लेकर कांग्रेस ने सोमवार को आरोप लगाया कि नरेंद्र मोदी सरकार में राजनीतिक विरोधियों के खिलाफ चुन चुनकर एजेंसियों का दुरुपयोग किया जा रहा है।

पार्टी के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल ने सवाल किया कि भाजपा के उन नेताओं और उनके बेटों के यहां छापेमारी क्यों नहीं हो रही है जिन पर आरोप हैं?

यह भी पढ़ें…कश्मीर में अलग PM की बात होगी तो हटाएंगे अनुच्छेद 370, 35ए: राजनाथ

पटेल ने संवाददाताओं से कहा, ‘सरकार उनकी है, ऐजेंसी उनकी है और जो भी करना है कर लें। कोई भी दोषी है, उसके खिलाफ कार्यवाही करें। लेकिन कम से कम साथ-साथ जो बीजेपी के लोग हैं, उनके जो बेटे हैं, उनकी जो फाईलें पड़ी हैं, चाहे ईडी के पास हों, या सीबीआई के पास हों। उनकी भी तो कम से कम जांच करें, शुरुआत हो।’

उन्होंने कहा, ‘अभी जो छापेमारी हो रही है, चुनिंदा ढंग ये क्यों कर रहे हैं? कम से कम बाकी लोगों के पास, आप अच्छी तरह से जानते हैं, किसके पास पैसा ज्यादा हैं और कहाँ से आया है, सब अच्छी तरह से जानते हैं, तो कम से कम उन पर भी तो रेड हों।’

यह भी पढ़ें…कांग्रेस का घोषणापत्र राष्ट्रद्रोह की बात करता है,सेना पर भी अंकुश लगाता है- सुषमा स्वराज

पटेल ने सवाल किया, ‘कहीं आपने सुना, पढ़ा है कि भाजपा के सांसदों या उनके रिश्तेदारों के खिलाफ एक भी जांच शुरु हुई है या किसी के खिलाफ एक भी छापेमारी हुई है? तो ये चुनिंदा ढंग से क्यों हो रहा है?’

पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने आरोप लगाया है कि इस देश को फिलहाल ‘4जी’-‘मोदी जी, शाह जी, ईडी जी और सीबीआई जी’ चला रहे हैं।

भाषा