लो कांग्रेस का तो कोई अध्यक्ष ही नहीं, खुद ‘राहुल गांधी’ ने कहा

राहुल गांधी ने बुधवार को जोर देकर कहा कि वह अब पार्टी अध्‍यक्ष नहीं हैं और कांग्रेस को जल्‍द से जल्‍द नया अध्‍यक्ष खोजना चाहिए। राहुल गांधी ने संसद में पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा, ”पार्टी को अविलंब नया अध्‍यक्ष चुनना चाहिए। मैं इस प्रकिया में कहीं शामिल नहीं हूं। मैं पहले ही अपना इस्‍तीफा दे चुका हूं और अब पार्टी अध्‍यक्ष नहीं हूं।

लो कांग्रेस का तो कोई अध्यक्ष ही नहीं, खुद 'राहुल गांधी' ने कहा

लो कांग्रेस का तो कोई अध्यक्ष ही नहीं, खुद 'राहुल गांधी' ने कहा

नई दिल्ली: राहुल गांधी ने बुधवार को जोर देकर कहा कि वह अब पार्टी अध्‍यक्ष नहीं हैं और कांग्रेस को जल्‍द से जल्‍द नया अध्‍यक्ष खोजना चाहिए। राहुल गांधी ने संसद में पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा, ”पार्टी को अविलंब नया अध्‍यक्ष चुनना चाहिए। मैं इस प्रकिया में कहीं शामिल नहीं हूं। मैं पहले ही अपना इस्‍तीफा दे चुका हूं और अब पार्टी अध्‍यक्ष नहीं हूं। कांग्रेस कार्यसमिति (सीडब्‍ल्‍यूसी) को जल्‍द से जल्‍द इस मसले पर मीटिंग करनी चाहिए और फैसला करना चाहिए।”

ये भी देंखे:कौन सी जगह है जहां लोगों को खुद बुझानी पड़ती है आग?

कांग्रेस के नए अध्यक्ष को लेके चल रहा विवाद

जब राहुल गांधी से नए अध्यक्ष को लेकर सवाल किया गया तो उन्होंने दो टूक कहा कि इसे लेकर उन्हें कोई जानकारी नहीं है. राहुल गांधी से नए अध्यक्ष को लेकर सवाल किया गया कि कई दिन हो गए, नए अध्यक्ष कब तक चुन लिए जाएंगे, तो इसके जवाब में उन्होंने कहा, ”मुझे क्या पता, सीडब्ल्यूसी तय करेगी नया अध्यक्ष कौन होगा। मैं तो इस्तीफा दे चुका हैं। मैं तो अध्यक्ष नहीं हूं।”

बता दें कि मंगलवार को दिनभर कांग्रेस अध्यक्ष को लेकर गहमागहमी रही। सूत्रों के आधार पर कई नाम को लेकर चर्चा होती रही। जिन नामों की चर्चा हुई उनमें महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री और गांधी परिवार के भरोसेमंद लोगों में से एक सुशील कुमार शिंदे का नाम रेस में सबसे आगे है।

इसके अलावा एक और दलित चेहरा और पिछली लोकसभा में कांग्रेस के नेता रहे मल्लिकार्जुन खड़गे भी हैं। इसके साथ ही युवा चेहरे में सचिन पायलट का नाम भी रेस में है।

ये भी देंखे:हाथरस जिले के सिकंदराराऊ में रहने वालें युवक की नहर में डूबने से हुई मौत

याद रहे कि कांग्रेस के उच्च सूत्रों से एबीपी न्यूज को जानकारी मिली है कि पिछले दिनों कुछ नेताओं ने सोनिया गांधी से मुलाकात की थी जिसमें उन नेताओं ने सोनिया से राहुल को मनाने का अनुरोध किया।

सोनिया गांधी का आया जवाब

सूत्रों के मुताबिक इसके जवाब में सोनिया गांधी ने कोई दखल देने से इनकार करते हुए कहा कि ये राहुल का फैसला है, पार्टी के नए अध्यक्ष की घोषणा जल्द हो जाएगी।

आपको बता दें कि लोकसभा चुनाव में कांग्रेस की करारी हार की नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए राहुल गांधी ने पार्टी अध्यक्ष पद से इस्तीफा देने की पेशकश की थी। हालांकि सीडब्ल्यूसी ने राहुल का इस्तीफा नामंजूर कर दिया था लेकिन राहुल अपने फैसले पर कायम हैं।

सोमवार को सभी कांग्रेस मुख्यमंत्रियों ने राहुल से पद पर बने रहने की अपील की। लेकिन वो अपने फैसले पर कायम हैं। राहुल गांधी 2017 में पार्टी के अध्यक्ष बने थे। उससे पहले 19 साल तक उनकी मां सोनिया गांधी ने पार्टी की कमान संभाली थी।

ये भी देंखे:भाजपा विधायक कृष्णानंद राय की हत्या मे मुख़तार अंसारी और मुन्ना बजरंगी बरी