कोरोना वायरस से हो रहा है ये फायदा, लोगों को इस तरह मिल रही राहत

कोरोना वायरस के चलते दुनियाभर में 3 हजार से ज्यादा लोग अपनी जान गंवा चुके हैं। कई देशों की अर्थव्यवस्था पर इसका खतरनाक असर देखा जा रहा है। भारत में भी…

Published by Deepak Raj Published: March 3, 2020 | 9:52 pm
Modified: March 3, 2020 | 9:55 pm

नई दिल्ली। कोरोना वायरस के चलते दुनियाभर में 3 हजार से ज्यादा लोग अपनी जान गंवा चुके हैं। कई देशों की अर्थव्यवस्था पर इसका खतरनाक असर देखा जा रहा है। भारत में भी कितने ही उत्पादों को महंगा करने में कोरोना का हाथ है। लेकिन कोरोना की वजह से डिमांड में कमी के चलते काफी सामान सस्ता भी हुआ है।

ये भी पढ़ें-कोरोना वायरस: मोदी सरकार ने इन देशों के वीजा को किया रद्द, दवा के निर्यात पर रोक

कोरोना वायरस के कहर से ज्यादातर सामानों के महंगा होने की खबरें ही सुनने में आ रही हैं। लेकिन कोरोना की वजह से कई देशों को सप्लाई की जाने वाली कई चीजें का एक्सपोर्ट थम गया है, लिहाजा डिमांड के मुकाबले सप्लाई बढ़ने से इनकी कीमतों में कमी दर्ज की जा रही है।

भारत में पेट्रोल-डीजल के दाम कम हुए हैं

इन सामानों में खाने पीने से लेकर पहनने-ओढ़ने तक के आइटम्स शामिल हैं। यहां तक की घूमने-फिरने के लिए भी अब लोगों को कम खर्च करना पड़ रहा है। कोरोना के असर से सबसे ज्यादा कमी कच्चे तेल की कीमतों में आई है। इसके असर से भारत में भी पेट्रोल-डीजल के दाम काफी कम हुए हैं।

 

12 जनवरी को कोरोना वायरस के फैलने की खबर सार्वजनिक हुई थीं। इसके बाद से 3 मार्च तक पेट्रोल की कीमत 4 रुपये 46 पैसे प्रति लीटर कम हो चुकी हैं। वहीं डीजल भी 5 रुपये 8 पैसे कम हो गई हैं।

ये भी पढ़ें-अभी करने अप्लाई: जिन्दगी भर की ऐश, अगर मिल गयी ये सरकारी नौकरी

यानी गाड़ी चलाना बीते करीब 2 महीनों में पहले के मुकाबले सस्ता हुआ है। यही नहीं, अगर कोरोना वायरस के असर को कंट्रोल नहीं किया गया तो फिर कीमतों में और भी गिरावट आ सकती है। लेकिन ये गिरावट अर्थव्यवस्था में सुस्ती आने के चलते आएगी जो किसी भी लिहाज से खुशखबरी नहीं है।

कोरोना की वजह से 30 फीसदी तक सस्ता हो गया है टूरिज्म

इसके साथ ही घूमने फिरने वालों के लिए भी कोरोना का संकट टूर पैकेज के दाम कम करने की खबर लेकर आया है। खबरों के मुताबिक इंटरनेशनल टूरिज्म कोरोना की वजह से 30 फीसदी तक सस्ता हो गया है।

इसके अलावा खाद्य तेल की कीमतों में भी 10 परसेंट की गिरावट का अनुमान है। भारत में 235 लाख टन की सालाना खपत का 70 फीसदी आयात किया जाता है। सोयाबीन, कॉटन और बासमती की कीमतें भी बीते दिनों में 10 फीसदी कम हुई हैं। इसके लिए भी कोरोना वायरस को ही जिम्मेदार ठहराया जा रहा है।