×

दिल्ली में मिला खतरनाक वायरस: दक्षिण अफ्रीका से आया था संक्रमित, मचा हड़कंप

दिल्ली में कोरोना वायरस के इस नए वैरिएंट का पहला केस है। संक्रमित शख्स को लोक नायक अस्पताल में एडमिट किया गया है। मिली जानकारी के मुताबिक, देशभर में इस दक्षिण अफ्रीकी स्ट्रेन के कम से कम चार मामले हैं।

Newstrack
Updated on: 16 March 2021 5:39 AM GMT
दिल्ली में मिला खतरनाक वायरस: दक्षिण अफ्रीका से आया था संक्रमित, मचा हड़कंप
X
देश में कोरोना वायरस एक बार फिर विकराल रूप लेता जा रहा है। कई राज्यों में बढ़ते कोरोना संक्रमण ने भय का माहौल पैदा कर दिया है।
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

नई दिल्ली: देश में कोरोना वायरस एक बार फिर विकराल रूप लेता जा रहा है। कई राज्यों में बढ़ते कोरोना संक्रमण ने भय का माहौल पैदा कर दिया है। अब इस बीच देश की राजधानी दिल्ली में नए खतरे की एंट्री हो गई है। दिल्ली में दक्षिण अफ्रीका में मिला कोरोना का नए स्ट्रेन पाया है। यह नया स्ट्रेव एक 33 वर्षीय व्यक्ति में पाया गया है।

दिल्ली में कोरोना वायरस के इस नए वैरिएंट का पहला केस है। संक्रमित शख्स को लोक नायक अस्पताल में एडमिट किया गया है। मिली जानकारी के मुताबिक, देशभर में इस दक्षिण अफ्रीकी स्ट्रेन के कम से कम चार मामले हैं।

इसके अलावा भी भारत के कई राज्यों में नए स्ट्रेन पाए चा जा चकु हैं। अभी तक मिले कोरोना के नए स्ट्रेन में दक्षिण अफ्रीका में मिला नया स्ट्रेन बेहद खतरनाक है और यह बहुत तेजी से फैलता है।

ये भी पढ़ें...रूस-अमेरिका को झटकाः भारत का कमाल, हथियारों का आयात कर दिया इतना कम

Coronavirus in Delhi

दक्षिण अफ्रीका से लौटा था मरीज

एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, दिल्ली में दक्षिण अफ्रीका में मिले नए स्ट्रेन का पहला मरीज पाया गया है। इस रिपोर्ट में कहा गया है कि लोकनायक अस्पताल के मेडिकल डायरेक्टर डॉक्टर सुरेश कुमार ने जानकारी दी कि संक्रमित केरल से है।

उन्होंने बताया कि वह 9 दिन पहले दक्षिण अफ्रीका से लौटने पर संक्रमित पाया गया था और उसे तत्काल अस्पताल में भर्ती कराया गया था। उन्होंने बताया है कि हमें रिपोर्ट्स मिली हैं, जो इस बात की पुष्टि करती हैं कि वो साउथ अफ्रीका के वैरिएंट से संक्रमित है।

ये भी पढ़ें...सेना भर्ती घोटाला: 30 जगहों पर CBI का छापा, 6 लेफ्टिनेंट कर्नल समेत 23 फंसे

आइसोलेट करने के लिए विशेष वार्ड बनाया गया

डॉक्टर के मुताबिक, मरीज एसिम्प्टोमैटिक है, लेकिन संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए सावधानी के तौर पर व्यक्ति को आइसोलेशन में रखा गया है। डॉक्टर का कहना है कि उसको आइसोलेट करने के लिए विशेष वार्ड बनाया गया है, ताकि कोरोना के यूके वैरिएंट या असल स्ट्रेन से जूझ रहे मरीज आपस में मिल न जाएं। दुनियाभर में SARS-CoV-2 के नए-नए स्ट्रेल फैल रहे हैं।

दोस्तों देश दुनिया की और को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Newstrack

Newstrack

Next Story