Top

टीकाकरणः A to Z पूरी जानकारी यहां, अब तक नहीं किया रजिस्ट्रेशन तो इसे जरूर पढ़ें

तमाम वरिष्ठ नागरिकों और 45 साल से ऊपर के गंभीर बीमारियों से पीड़ित लोगों ने को-विन प्लेटफॉर्म पर सोमवार 1 मार्च को सुबह 9 बजे से खुद को पंजीकृत कराया।

Shivani Awasthi

Shivani AwasthiBy Shivani Awasthi

Published on 1 March 2021 4:01 PM GMT

टीकाकरणः A to Z पूरी जानकारी यहां, अब तक नहीं किया रजिस्ट्रेशन तो इसे जरूर पढ़ें
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

रामकृष्ण वाजपेयी

कोरोना वायरस से बचाव के लिए दूसरे चरण के वैक्सीनेशन की आज से शुरुआत हो गई है। इस चरण में दो तरह के लोगों को प्राथमिकता दी गई है। पहली 45 साल के ऊपर के वह लोग जो गंभीर बीमारियों से ग्रस्त हैं। दूसरे 60 साल से ऊपर के बुजुर्ग लोगों को। अच्छी बात यह है कि सरकारी अस्पतालों में यह टीका मुफ्त लगाया जाएगा जबकि प्राइवेट अस्पतालों में 250 रुपये फीस लेकर टीकाकरण होगा।

जानें वैक्सीन मिलेगी किसे और कैसे

तमाम वरिष्ठ नागरिकों और 45 साल से ऊपर के गंभीर बीमारियों से पीड़ित लोगों ने को-विन प्लेटफॉर्म पर सोमवार 1 मार्च को सुबह 9 बजे से खुद को पंजीकृत कराया। को-विन एक डिजिटल प्लेटफॉर्म है जिसे COVID-19 वैक्सीन डिलीवरी के वास्तविक समय की निगरानी के लिए बनाया गया था। इस Co-WIN का नया वर्जन CoWIN 2.0 में अपग्रेड किया है। इसे पहले हेल्थकेयर और फ्रंटलाइन वर्कर्स के टीकाकरण के लिए टीकाकरण के शुरुआती दो चरणों में इस्तेमाल किया जा रहा था।

स्वास्थ्य और अग्रिम मोर्चे के कार्यकर्ताओं के बाद टीकाकरण अभियान अब प्राथमिकता की सूची में शामिल लगभग 27 करोड़ लोगों तक पहुंचेगा।

ये भी पढ़ेँ- पीएम मोदी के कोरोना वैक्सीन लगवाने के बाद सियासत गरमाई, पढ़ें किसने क्या कहा?

आयुष्मान भारत-पीएमजेएवाई के तहत 10,000 अस्पतालों और सीजीएचएस के तहत 687 अस्पतालों का कोविड टीकाकरण केंद्र (सीवीसी) के रूप में उपयोग किया जा सकता है। राज्य सरकारों को स्वास्थ्य बीमा योजनाओं के तहत सभी निजी अस्पतालों का उपयोग करने की स्वतंत्रता भी दी गयी है।

covid-19 vaccination

COVID-19 वैक्सीन दूसरे चरण में कौन Co-WIN 2.0 एप पर पंजीकरण कर सकता है?

60 वर्ष से अधिक आयु के लोग और 45 से अधिक के गंभीर बीमारियों के शिकार लोग खुद को पंजीकृत करने में सक्षम होंगे।

वॉक-इन प्रावधान: लाभार्थियों को सत्र स्थलों पर जाकर खुद को पंजीकृत करने का भी प्रावधान किया गया है।

सरकारी अस्पतालों में टीकाकरण नि:शुल्क प्रदान किया जाएगा जबकि निजी अस्पतालों में भुगतान के आधार पर होगा। सभी निजी अस्पताल केंद्र सरकार द्वारा तय किए गए टीकों के लिए 150 रुपये और सेवा के लिए 100 रुपये का शुल्क ले सकते हैं।

स्व-पंजीकरण के मामले में, कोविन पोर्टल राज्यों / केंद्रशासित प्रदेशों द्वारा घोषित टीकाकरण केंद्रों के आधार पर बुकिंग की सुविधा रहेगी।

प्राइवेट अस्पतालों में टीके की कीमत, कैसे होगा वैक्सीनेशन

को-विन एप का नया संस्करण जीपीएस-सक्षम होगा और लाभार्थियों के निकटवर्ती सरकारी और निजी दोनों सुविधाओं पर टीकाकरण साइट चुनने का विकल्प देगा।

ये भी पढ़ेँ-भारतीय वैक्सीन पर चीन की नजर, फार्मूला चुराने में जुटा, निशाने पर बायोटेक-सीरम

जिन लोगों को एप पर खुद को पंजीकृत करना नहीं आता है वह किसी सहायक की मदद लेकर खुद को पंजीकृत करा सकते हैं। लाभार्थी के पास अपने गृह राज्य से अलग राज्य में टीका लगाने का विकल्प भी होगा।

lko-vaccination

उल्लिखित गंभीर बीमारियों से पीडित लोगों को प्रमाण दिखाने की जरूरत होगी। ऐसे लोगों को अपनी बीमारी के समर्थन में चिकित्सा प्रमाणपत्र अपलोड करना होगा।

Vaccine Registration कैसे करें

लाभार्थी को बस अपने मोबाइल नंबर के साथ पंजीकरण करना होगा और बदले में, एक ओटीपी प्राप्त होगा जिसके साथ उसका खाता बनाया जाएगा। कोई भी अपने परिवार के सदस्यों को खाते में पंजीकृत करवा सकता है। वरिष्ठ नागरिकों और 45 से ऊपर के लोगों को सोमवार को केवल पोर्टल या ऐप के माध्यम से पंजीकरण करने की अनुमति होगी।

Shivani Awasthi

Shivani Awasthi

Next Story