छत्तीसगढ़ क्रिकेट संघ के अध्यक्ष बलदेव भाटिया के ठिकानों पर IT का छापा, कई शहरों में कार्रवाई

छत्तीसगढ़ के बड़े व्यवसायी और छत्तीसगढ़ क्रिकेट संघ के अध्यक्ष बलदेव सिंह भाटिया के ठिकानों पर आयकर विभाग ने बुधवार (24 मई) को छापा मारा।

Published by sujeetkumar Published: May 24, 2017 | 6:15 pm
Modified: May 24, 2017 | 6:17 pm

रायपुर: छत्तीसगढ़ के बड़े व्यवसायी और क्रिकेट संघ के अध्यक्ष बलदेव सिंह भाटिया के ठिकानों पर आयकर विभाग ने बुधवार (24 मई) को छापा मारा। सुबह 6 बजे इन ठिकानों पर एक साथ छापामारी की गई।

रायपुर में भाटिया के सिविल लाइन थाना इलाके में स्थित घर में आईटी की टीम पहुंची। इनके राजनांदगांव में पुराने बस स्टैंड के समीप स्थित घर पर भी आईटी की टीम ने छापा मारा। बलदेव प्रदेश के बड़े शराब कारोबारी हैं, और सत्ता पक्ष के करीबी माने जाते हैं।

बलदेव छत्तीसगढ़ स्टेट क्रिकेट संघ के अध्यक्ष होने के साथ ही छत्तीसगढ़ ओलंपिक संघ में भी पदाधिकारी रहे हैं। उन्होंने ओलंपिक संघ के महासचिव पद से कुछ समय पहले इस्तीफा दिया था।

इन ठिकानों पर आयकर विभाग का छापा
उनके रिटेल कारोबार में पार्टनर होने के कारण पप्पू भाटिया खरोरा वालों के यहां भी आयकर विभाग की कार्रवाई हुई है। अब तक आई जानकारी के अनुसार रायपुर, दुर्ग, भिलाई और राजनांदगांव सहित प्रदेश के अन्य ठिकानों पर आयकर की कार्रवाई जारी है। भाटिया के सीए के कचहरी के समीप कृष्णा कॉम्प्लेक्स स्थित ऑफिस में भी कार्रवाई हुई है।

टीमें बनाकर शहरों में एक साथ छापामारी
अविभाजित मध्य प्रदेश के समय से छत्तीसगढ़ के बड़े शराब कारोबारी के रूप में पहचान बना चुके बलदेव सिंह भाटिया के सभी प्रतिष्ठानों पर आयकर विभाग की दर्जनों टीम ने एक साथ छापामारी की। आय से अधिक संपत्ति के मामले में ये कार्रवाई की गई है। भोपाल सर्किल के अफसरों ने सुबह होते ही कई टीमें बनाकर शहरों में एक साथ छापामारी की।

आयकर विभाग के सूत्रों का कहना है कि छापे को काफी गोपनीय तरीके से अंजाम दिया गया। भाटिया के विरुद्ध आय से ज्यादा संपत्ति की शिकायत नोटबंदी के बाद से ही मिल रही थी। उन शिकायतों के लगातार परीक्षण के बाद भोपाल सर्किल के अफसरों की टीम बनाकर मंगलवार रात यहां भेजा गया था।

गोपनीय तरीके से की गई छापेमारी
इसके लिए शहरों के हिसाब से टीमों का बंटवारा किया गया था। छापे की कार्रवाई इतने गोपनीय तरीके से की गई कि रायपुर सर्किल से जुड़े अफसरों को इसकी भनक तक नहीं लग पाई। इन्हें मंगलवार रात केवल इतनी सूचना दी गई कि सुबह छापेमारी के लिए तैयार रहें।

सौजन्य- आईएएनएस

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App