Top

VIDEO: BSF जवान के बाद अब CRPF जवान ने की शिकायत, सुविधाएं न मिलने का आरोप

जवान ने सेना को मिलने वाली सुविधा का समर्थन किया है लेकिन कहा है कि वैसी सुविधाएं सीआरपीएफ को भी मिलनी चाहिएं। जवान ने अपना दर्द बयान करते हुए यह भी कहा है कि सीआरपीएफ जवानों के दर्द को आखिर कौन समझेगा। जवान ने लोगों से मैसेज पीएम मोदी तक पहुंचाने की अपील की है।

zafar

zafarBy zafar

Published on 12 Jan 2017 8:01 AM GMT

VIDEO: BSF जवान के बाद अब CRPF जवान ने की शिकायत, सुविधाएं न मिलने का आरोप
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: बीएसएफ जवान तेज बहादुर यादव के समसनीखेज वीडियो के बाद अब एक सीआरपीएफ जवान के वीडियो ने हंड़कंप मचा दिया है। सीआरपीएफ जवान जीत सिंह ने अपने वीडियो में जवानों के साथ भेदभाव भरे बर्ताव की चर्चा करते हुए कहा है कि उनका दर्द कोई नहीं समझता। जवान ने पीएम मोदी से सहायता की अपील भी की है।

जवान की शिकायत

-सीआरपीएफ जवान जीत सिंह ने वीडियो में कहा है कि सेना और सीआरपीएफ के कार्य एक समान हैं, लेकिन दोनों की सुविधाओं में बहुत अंतर है।

-जवान का कहना है कि न तो उन्हें सेना के जवानों की तरह सुविधाएं मिलती हैं, न पेंशन। पेंशन थी जो बंद हो गई।

-जीत सिंह ने मेडिकल सुविधाओँ से लेकर एक्स सर्विसमैन का कोटा न मिलने की चर्चा वीडियो में की है।

-जवान ने कहा है कि सीआरपीएफ जवान संवेदनशील सरकारी संस्थानों, एयरपोर्ट और लोकसभा-विधानसभा चुनावों से लेकर छत्तीसगढ़ और झारखंड के जंगलों और कश्मीर की घाटियों तक ड्यूटी देते हैं।

-इसके बावजूद सेना, अर्द्धसैनिक बलों और सीआरपीएफ जवानों की सुविधाओं में अंतर है और उन्हें समय पर छुट्टियां भी नहीं मिलतीं।

-जवान ने सेना को मिलने वाली सुविधा का समर्थन किया है लेकिन कहा है कि वैसी सुविधाएं सीआरपीएफ को भी मिलनी चाहिएं।

सरकार कदम उठाएगी

-जवान ने अपना दर्द बयान करते हुए यह भी कहा है कि सीआरपीएफ जवानों के दर्द को आखिर कौन समझेगा।

-वीडियो मैसेज में जवान ने लोगों से सहयोग मांगते हुए वीडियो मैसेज पीएम मोदी तक पहुंचाने की अपील की है।

-इस सिलसिले में गृह राज्य मंत्री हंसराज अहीर ने किसी तरह की लिखित शिकायत मिलने से इनकार किया है।

-लेकिन गृह राज्य मंत्री ने कहा है कि सरकार जवानों के साथ किसी तरह का भेदभाव नहीं होने देगी और किसी भी समस्या के लिए आवश्यक कदम उठाए जाएंगे।

zafar

zafar

Next Story