J&K: दहकती घाटी में अब तक 32 की मौत,दो दिन बाद अमरनाथ यात्रा फिर शुरू

Published by August 29, 2016 | 4:25 pm

श्रीनगर: हिजबुल मुजाहिदीन के कमांडर बुरहान वानी के मारे जाने के बाद कश्मीर में प्रदर्शनकारियों और सुरक्षाबलों के बीच झड़पों में मरने वालों की संख्या बढ़कर 32 हो गई है। सोमवार को भी हिंसा और तनाव रहा। भीड़ ने सोपोर में पुलिस चौकी और अनंतनाग के डोरू में कोर्ट की इमारत फूंक दी।

पुलवामा में एयरफोर्स के एयरपोर्ट को निशाना बनाया गया और परिसर में आग लगा दी गई। उल्लेखनीय है कि शुक्रवार को सुरक्षा बालों से हुए मुठभेड़ में आतंकी बुरहान वानी की मौत के बाद से घाटी में कर्फ्यू जैसे हालात हैं। अलगाववादियों की ओर से आयोजित बंद के कारण लगातार तीसरे दिन घाटी में जनजीवन बाधित है।

अमरनाथ यात्रा फिर शुरू 
-कश्मीर में हिंसा के कारण बीते दो दिन से रुकी अमरनाथ यात्रा सोमवार को एक बार फिर शुरू हो गई।
-फिलहाल बालटाल के रास्ते से यात्रा की शुरुआत की गई है।
-यात्रा रोके जाने से बड़ी संख्या में तीर्थ यात्री फंसे हुए थे, जिन्हें अब बसों में बिठाकर आगे रवाना किया जा रहा है।

जम्मू में फंसे 10 हजार यात्री
-इससे पहले जम्मू के आईजी दानेश राना ने कहा था, ‘हम जम्मू से बालटाल और पहलगाम मार्गों के लिए अमरनाथ यात्रा की अनुमति देकर जोखिम नहीं ले सकते।’
-राना ने कहा, जैसे ही घाटी में हालात सुधरेंगे हम यात्रा को जम्मू बेस कैंप से शुरू करने की अनुमति दे देंगे।
-उन्होंने कहा, 8 से 10 हजार अमरनाथ यात्री जम्मू में ही फंसे हुए हैं।

अब तक 300 से ज्यादा घायल
-इस हिंसा में अब तक मरने वालों की संख्या 32 हो गई है, जबकि 300 से ज्यादा लोग घायल हुए हैं।
-तनाव के बाद श्रीनगर में 11 जगहों पर कर्फ्यू लगाया गया है।
-सुरक्षा के मद्देनजर 1200 अतिरिक्त अर्धसैनिक बलों की तैनाती की गई है।

संचार सुविधा बंद, बढ़ी परेशानी
-पुलिस के एक अधिकारी ने बताया, कल कुलगाम जिले में हिंसा की एक घटना में दो लोग मारे गए थे।
-इनकी पहचान फिरोज अहमद मीर और खुर्शीद अहमद मीर के रूप में हुई है।
-उन्होंने कहा, दक्षिण कश्मीर जिले में संचार की सुविधा अपर्याप्त होने के कारण इन युवाओं की मौत की जानकारी कल नहीं मिल सकी थी।
-सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में बुरहान वानी की मौत के बाद हिंसक विरोध प्रदर्शन शुरू होने के कारण दक्षिणी कश्मीर के चार जिलों में मोबाइल सेवाएं बंद कर दी गई हैं।