×

अब कांपेगा पाकिस्तान-चीन: समंदर में बढ़ेगी भारतीय नौसेना की ताकत, कल होगा INS Surat का जलावतरण

Indian Navy INS Surat: रक्षामंत्री राजनाथ सिंह कल यानि 17 मई को मुंबई के मझगांव डाकयार्ड से भारतीय नौसेना को नया विध्वंसक INS Surat समर्पित करेंगे।

Krishna Chaudhary
Written By Krishna ChaudharyPublished By Deepak Kumar
Published on: 16 May 2022 3:41 PM GMT
INS Surat
X

INS Surat। (Social Media)

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Indian Navy INS Surat: तीन ओर से समुद्र से घिरा भारत अपनी विशाल समुद्री सीमा की सुरक्षा के लिए लगातार भारतीय नौसेना (Indian Navy) को मजबूत बना रहा है। हिंद महासागर (Indian Ocean) में चीन की तरफ से बढ़ती चुनौती को देखते हुए भारत नौसेना की ताकत को बढ़ाने में जुटा हुआ है। इसी क्रम में भारतीय नौसेना को एक और ताकतवर युद्धपोत मिलने जा रहा है। रक्षामंत्री राजनाथ सिंह (Defence Minister Rajnath Singh) कल यानि मंगलवार 17 मई को मुंबई के मझगांव डाकयार्ड (Mazgaon Dockyard in Mumbai) से भारतीय नौसेना को नया विध्वंसक समर्पित करेंगे।

नया विध्वंसक INS Surat

गुजरात का प्रमुख शहर और देश में हीरों के कारोबार के लिए मशहूर सूरत के नाम पर नए विध्वंसक युद्धपोत का नाम आईएनएस सूरत (INS Surat) रखा गया है। सूरत नाम रखे जाने से गुजरातियों में खासा उत्साह देखा जा रहा है। गुजरात सरकार (Gujarat Government) के गृह राज्य मंत्री हर्ष संघवी (Minister of State for Home Harsh Sanghvi) ने भी ट्वीट कर प्रसन्नता जाहिर की है। जानकारी के अनुसार, आईएनएस सूरत को देश के पूर्वी तट पर आंध्र प्रदेश के विशाखापत्तनम में तैनात किया जाएगा। दरअसल सूरत बीते कुछ सालों से कोस्ट गार्ड के लिए पोतों और नौकाओं का निर्माण कर रहा है। इसके अलावा थल सेना के लिए तोपों, सैनिकों के लिए कपड़े समेत विभिन्न प्रकार के सैन्य साजों – सामान का उत्पादन भी हो रहा है।

हालांकि ये कोई पहला मौका नहीं है जब किसी शहर के नाम पर किसी युद्धपोत का नाम रखा गया हो, इससे पहले भी देश के कई शहरों के नाम पर युद्धपोतों का नाम रखा गया है। INS विशाखपट्नम, INS कोलकाता, INS कोच्चि, INS चेन्नई, INS दिल्ली, INS मैसूर, INS मुंबई, INS करवार, INS काकीनाडा, INS कुडालोर, INS कन्नूर, INS कोंकण और INS कोझिकोड इसके उदाहरण हैं।

बेहद ताकतवर होगा INS Surat

7400 टन वजनी आईएनएस सूरत की लंबाई 163 मीटर है। इसकी स्पीड 56 किलोमीटर प्रति घंटा होगी। इसपर चार इंटरसेप्टर के साथ 50 अधिकारी और 250 नौसैनिक रह सकते हैं। यह एकबार में 7400 किलोमीटर की यात्रा कर सकता है और 45 दिनों तक समुद्र में रह सकता है। जानकारी के मुताबिक, INS Surat पर बराक-8, ब्रह्मोस, एंटी-सबमरीन रॉकेट लॉन्चर, तोप समेत कई अत्याधुनिक हथियार लगाए जाएंगे। इसमें एंटी वारफेयर के लिए 32 बराक-8, ब्रह्मोस मिसाइल तैनात की जा सकती है। वहीं एंटी सरफेस वारफेयर के लिए 16 ब्रह्मोस एंटी शिप मिसाइलें भी तैनात की जा सकती है।

Deepak Kumar

Deepak Kumar

Next Story