ट्रैक्टर परेड में भयानक हिंसा: 300 पुलिसकर्मी घायल, पुलिस के दावे से हिली सरकार

कल ट्रैक्टर मार्च के दौरान पुलिस और किसानों के बीच भिड़ंत भी हुई। इस बीच दिल्ली पुलिस की ओर से दावा किया गया है कि किसानों के हमले में करीब तीन सौ पुलिसकर्मी घायल हुए हैं। 

Published by Shreya Published: January 27, 2021 | 11:41 am
delhi police

ट्रैक्टर परेड में भयानक हिंसा: 300 पुलिसकर्मी घायल, पुलिस के दावे से हिली सरकार (फोटो- सोशल मीडिया)

नई दिल्ली: दिल्ली में गणतंत्र दिवस के मौके पर कृषि कानून के खिलाफ आंदोलनरत किसानों ने काफी उत्पात मचाया। राजधानी में कई जगह किसानों का उग्र रूप देखा गया। जगह-जगह पुलिस बैरिकेड तोड़ गए, साथ ही पुलिस और किसानों के बीच भिड़ंत भी हुई। दिल्ली से कई ऐसी तस्वीरें सामने आईं, जिसमें किसान पुलिस पर हावी होते देखे गए। यहां तक कि किसान तलवार लेकर पुलिस को भगाते देखे गए।

पुलिस और किसान के बीच झड़प में 300 कर्मी हुए घायल

इस बीच दिल्ली पुलिस की ओर से दावा किया गया है कि किसानों के हमले में करीब तीन सौ पुलिसकर्मी घायल हुए हैं। आपको बता दें कि कल गणतंत्र दिवस के मौके पर किसान काफी उग्र होते देखे गए। पुलिस हालात को काबू में करने की कोशिश करती रही, लेकिन किसानों के आगे बेबस रही। झड़प के दौरान कई किसानों को भी चोटें आई हैं। वहीं प्रदर्शन के दौरान ट्रैक्टर पलटने से एक ड्राइवर की भी मौत हो गई थी।

यह भी पढ़ें: सावधान किसान! एक्शन में सरकार, दिल्ली हिंसा पर दिया बड़ा आदेश, नहीं बचेगा कोई

राकेश टिकैट का चौंकाने वाला वीडियो आया सामने

अब इस बीच किसान नेता राकेश टिकैत का एक हैरान कर देने वाला वीडियो सामने आया है। इस वीडियो में राकेश टिकैत किसानों को रैली में अपने साथ लाठी-डंडा रखने की हिदायत देते नजर आ रहे हैं। साथ ही राकेश ये भी कहते हैं कि किसानों से उनकी जमीन छीन ली जाएगी। सरकार मान नहीं रही हैं लेकिन अब सब आ जाओ अपनी जमीन नहीं बच रही।

यह भी पढ़ें: दिल्ली हिंसा व लाल किले की घटना पर संघ भड़का, सरकार पर सख्त कार्रवाई का दबाव

राकेश टिकैत ने किसानों को दी बधाई

इसके साथ ही सामने आए किसान नेता राकेश टिकैत के एक ट्वीट ने सभी को चौंका दिया। इसमें राकेश टिकैत ने किसानों को बधाई दे डाली। वहीं साथ ही उन्होंने पूरे आंदोलन को शांतिपूर्ण और सफल ट्रैक्टर परेड बताया। उन्होंने सरकार को भी लंबी चौड़ी सलाह दी है।

बताते चलें कि गणतंत्र दिवस के मौके पर दिल्ली में हुए बवाल को पर अब तक कुल 12 एफआईआर दर्ज कर ली गई हैं। मोबाइल इंटरनेट सर्विस की बात की जाए तो बैन रात 12 बजे तक ही था, लेकिन सेवा में अभी भी दिक्कत जारी है। उपद्रवियों ने कुल आठ बसों और 17 अन्य वाहनों को नुकसान पहुंचाया है। हिंसा की सबसे ज्यादा घटनाएं मुकरबा चौक, गाजीपुर, ITO, सीमापुर नांगलोई और लाल किले में हुईं। हालात पर काबू करने के लिए दिल्ली में अर्धसैनिक बलों को उतारा गया।

यह भी पढ़ें: ट्रैक्टर परेड हिंसा: बवाल के बाद किसानों की बड़ी बैठक, हो सकते हैं ये अहम फैसले

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App