×

Delhi Mundka Fire In Photos: तस्वीरों के जरिये देखें मुंडका अग्निकांड की दिल दहला देने वाली दास्तां

Delhi Mundka Fire In Photos: मुंडका अग्निकांड में पुलिस ने कंपनी के दोनों मालिकों को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर लिया था। कंपनी के दोनों मालिकों पर गैर इरादतन हत्या का केस दर्ज किया गया है।

aman
Published on 14 May 2022 8:53 AM GMT
delhi mundka fire heart touching photos latest news update
X

Delhi Mundka Fire Photos (social media)

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Delhi Mundka Fire In Photos : राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के मुंडका क्षेत्र में शुक्रवार शाम एक तीन मंजिला व्यावसायिक इमारत में भीषण आग लग गई। इस अग्निकांड में 30 लोगों की मौत हो गई। इस बिल्डिंग से 50 लोगों को सुरक्षित निकाला गया। घायल लोगों को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया। हादसे में दमकल विभाग (Fire Department) के दो कर्मचारियों की भी मौत हो गई। शनिवार सुबह दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के साथ घटनास्थल पर पहुंचे। मुख्यमंत्री केजरीवाल ने मृतकों के परिजनों को 10-10 लाख रुपए और घायलों के परिजनों को 50-50 हजार रुपए देने का ऐलान किया।

मुंडका अग्निकांड में पुलिस ने कंपनी के दोनों मालिकों को गिरफ्तार कर लिया है। इससे पहले पुलिस ने मामले में एफआईआर दर्ज कर लिया था। कंपनी के दोनों मालिकों पर गैर इरादतन हत्या का केस दर्ज किया गया है। जबकि, बिल्डिंग मालिक अभी भी फरार है।


मुंडका अग्निकांड में चार मंजिला इमारत में लगी भीषण आग में 29 लोग अभी भी लापता हैं। इनमें 24 महिलाएं और पांच पुरुष बताए जा रहे हैं। इस हादसे ने लोगों को अंदर तक झकझोर कर रख दिया।


शनिवार सुबह इमारत की दूसरी मंजिल पर कुछ शवों के टुकड़े मिले हैं। पुलिस का कहना है कि मृतकों की संख्या 27 से बढ़कर 29-30 के करीब हो सकती है। जिनकी लाश मिली है और जो लापता हैं, उनके परिजनों का बुरा हाल है।


कई परिवारों पर तो अचानक दुख का पहाड़ टूट गया। जिन मृतकों के परिजनों को शव मिले हैं, उन्हें तो ज्ञात है कि उन्होंने अपनों को खो दिया। मगर, उनकी हालत ज्यादा बुरी है जिनके परिजन को ये पता ही नहीं कि उनके 'अपने' कहां गए। वो स्तब्ध हैं। वो कभी अस्पताल, तो कभी पुलिस स्टेशन के चक्कर काट रहे हैं।


वहीं, 27 में से 25 शवों की पहचान अभी तक नहीं हो पाई है। पुलिस का कहना है कि डीएनए मिलाने के बाद ही शवों की पहचान संभव है। ऐसी स्थिति इसलिए बनी क्योंकि शव बहुत ज्यादा जल चुके हैं।


शुक्रवार को आग लगने के बाद घायलों को ग्रीन कॉरिडोर बनाकर संजय गांधी अस्पताल भेजा गया था। मौके पर पहुंचीं दमकल की 30 गाड़ियां आग बुझाने में जुटी थी।


प्रधानमंत्री मोदी ने घटना पर संवेदना व्यक्त की है। देर रात आग पर काबू तो पा लिया गया लेकिन अभी भी अपनों की तलाश जारी है।






सभी तस्वीरें सोशल मीडिया से

aman

aman

Next Story