×

मरांडी में आदिवासी क्षेत्र में चुनाव लड़ने की हिम्मत नहीं : मुख्यमंत्री रघुवर दास

दास ने आरोप लगाया कि आदिवासी जनता ऐसे लोगों को पहचान चुकी है, जो आदिवासी विकास की बात तो करते हैं लेकिन इसे धरातल पर नहीं उतारते। इन्हें सिर्फ एक दूसरे को लड़ाना आता है। यही कारण है कि मरांडी आज सामान्य क्षेत्र से चुनाव लड़ रहे हैं।

Roshni Khan

Roshni KhanBy Roshni Khan

Published on 16 April 2019 11:14 AM GMT

मरांडी में आदिवासी क्षेत्र में चुनाव लड़ने की हिम्मत नहीं : मुख्यमंत्री रघुवर दास
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

गिरिडीह: झारखंड के मुख्यमंत्री रघुवर दास ने मंगलवार को यहां कहा कि राज्य की 5 सीटें सुरक्षित हैं लेकिन मुख्यमंत्री रह चुके बाबूलाल मरांडी सामान्य सीट कोडरमा से चुनाव लड़ रहे हैं क्योंकि उनमें आदिवासी क्षेत्र में जाकर चुनाव लड़ने की हिम्मत नहीं है।

ये भी देखें:भगवान हनुमान की आपत्तिजनक तस्वीर पोस्ट करने के मामले में दो लोग गिरफ्तार

दास ने आरोप लगाया कि आदिवासी जनता ऐसे लोगों को पहचान चुकी है, जो आदिवासी विकास की बात तो करते हैं लेकिन इसे धरातल पर नहीं उतारते। इन्हें सिर्फ एक दूसरे को लड़ाना आता है। यही कारण है कि मरांडी आज सामान्य क्षेत्र से चुनाव लड़ रहे हैं।

उन्होंने कहा कि अगर साहस है तो मरांडी आदिवासी क्षेत्र से चुनाव लड़ें। फिर पता चलता कि आदिवासी हित में इन्होंने कितना कार्य किया है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि महागठबंधन भ्रष्टाचारियों का गठबंधन है। यह गठबंधन सिर्फ नरेंद्र मोदी को हटाने के लिए है। इन्हें भ्रष्टाचार में महारत हासिल है। उन्हें आशंका है कि अगर नरेंद्र मोदी सत्ता में लौटे तो इनका स्थान जेल में होगा।

दास ने कहा कि विपक्षी राजनीतिक दलों के लोग भाजपा पर यह आरोप लगाते हैं कि वह अमीरों को मदद पहुंचाने वाली पार्टी है। उन्होंने कहा, ‘‘हां, बेरोजगार हमारे लिए अमीर हैं, बिना घर वाले हमारे लिए अमीर हैं, बिना शौचालय वाले हमारे लिए अमीर हैं, किसान हमारे लिए अमीर हैं, और इन अमीरों के उत्थान के लिए हमने योजनाओं को धरातल पर उतारा।’’

उन्होंने पूछा, क्या ऐसे लोगों को उनका हक दिलाना गलत है। क्यों नहीं दशकों तक ऐसे अमीरों की सुध पूर्व की सरकारों द्वारा ली गई? दास ने कहा कि वर्षों से कांग्रेस पार्टी गरीबी हटाओ की बात करती है, गरीब न्याय की बात करती है। लेकिन आपने इसके उन्मूलन के लिए क्या किया। कोडरमा लोकसभा क्षेत्र के मतदाता इस बात को अवश्य समझें कि यह कोई विधायक, पार्षद या मेयर का चुनाव नहीं।

बल्कि देश की तकदीर बदलने वाला चुनाव है। गरीबी, उग्रवाद, आतंकवाद को समाप्त करने की इच्छा शक्ति रखने वाली सरकार का चुनाव आपको करना है, जिस प्रकार 2014 में अपने वंशवाद को नकार कर लोकतंत्र को मजबूत किया और एक चाय बेचने वाले को प्रधानमंत्री बनाया।

ये भी देखें:सपा में शामिल हुईं शत्रुघ्न सिन्हा की पत्नी पूनम सिन्हा, राजनाथ सिंह के खिलाफ लड़ेंगी चुनाव

मुख्यमंत्री दास ने मंगलवार को गिरिडीह के झंडा मैदान में कोडरमा लोकसभा क्षेत्र की भाजपा प्रत्याशी अन्नपूर्णा देवी के नामांकन से पूर्व आयोजित जनसभा में यह बातें कहीं।

(भाषा)

Roshni Khan

Roshni Khan

Next Story