Top

डॉ. पायल तड़वी केस: तीन आरोपी डॉक्टरों की गिरफ्तारी, पति ने एक पर जताया शक

बीवाईएल नायर अस्पताल की रेजीडेंट डॉक्टर पायल तड़वी को जातिसूचक शब्दों से प्रताड़ित करने के मामले में एक आरोपी डॉक्टर को गिरफ्तार कर लिया गया है।

Vidushi Mishra

Vidushi MishraBy Vidushi Mishra

Published on 29 May 2019 4:37 AM GMT

डॉ. पायल तड़वी केस: तीन आरोपी डॉक्टरों की गिरफ्तारी, पति ने एक पर जताया शक
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: बीवाईएल नायर अस्पताल की रेजीडेंट डॉक्टर पायल तड़वी को जातिसूचक शब्दों से प्रताड़ित करने के मामले में एक आरोपी डॉक्टर को गिरफ्तार कर लिया गया है। अगड़ीपाड़ा पुलिस ने मंगलवार को भक्ति मेहर को प्रारंभिक पूछताछ के बाद गिरफ्तार किया गया।

यह भी देखें... काशी में हो सकती है जिनपिंग और मोदी की मुलाकात, होगी अहम मुद्दों पर बात

इसके अलावा हेमा आहूजा को कल रात और अंकिता खंडेलवाल को बुधवार को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। आदिवासी समुदाय से ताल्लुक रखने वाली 26 वर्षीय पायल को आत्महत्या के लिए उकसाने के आरोप में तीन वरिष्ठ साथी डॉक्टरों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया था। दो अन्य आरोपी अंकिता खंडेलवाल और हेमा आहूजा ने सत्र न्यायाधीश के समक्ष अग्रिम जमानत की याचिका दायर की है।

मामले में जिम्मेदार लोगों के खिलाफ कार्रवाई को लेकर ठाणे और पालघर में रैलियां निकाली गईं। श्रमजीवी संगठन के बैनर तले इन रैलियों में प्रदर्शनकारियों ने जिला कलक्टरों से मुलाकात की। पायल के अभिभावकों ने भी अस्पताल के बाहर विरोध प्रदर्शन में हिस्सा लिया।

प्रदर्शनकारियों ने पायल की मां और उसके पति सलमान के साथ मिलकर तीनों आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की। उधर, भीम आर्मी के प्रमुख चंद्रशेखर आजाद ने कहा कि अगर हमारी छोटी बहन के लिये न्याय की लड़ाई में जरूरत हुई तो वह भी महाराष्ट्र का दौरा करेंगे।

पायल की मां आबिदा ने बताया कि अस्पताल में वरिष्ठ डॉक्टरों द्वारा प्रताड़ना के बारे में वह अकसर बताया करती थी। कई दफा वे मरीजों के सामने ही पायल पर फाइलें फेंक देते थे। आबिदा के मुताबिक पायल उनके समुदाय से पहली एमडी डॉक्टर होती लेकिन कॅरियर प्रभावित होने के भय से उसने वरिष्ठ साथियों के खिलाफ शिकायत दर्ज नहीं कराई।

यह भी देखें... जम्मू: नाबालिग लड़कियों का उत्पीड़न करने के आरोप में केंद्रीय बल का कर्मी गिरफ्तार

राष्ट्रीय महिला आयोग ने मंगलवार को इस मामले में पत्र लिखकर जांच की मांग की है। साथ ही आयोग ने खुद को इस घटना से ‘बहुत व्यथित’ बताया। वह मामले में मुंबई स्थित टोपीवाला मेडिकल कॉलेज और बीवाईएल नायर अस्पताल को नोटिस जारी कर चुका है।

आयोग ने कहा, ‘यह बेहद चिंता का विषय है। हमने मामले की जांच का अनुरोध किया है और अभी तक हुई कार्रवाई के बारे में भी बताने को कहा है।’ इससे पहले सोमवार को महाराष्ट्र महिला आयोग ने भी मेडिकल कॉलेज के डीन को पत्र लिखकर एंटी रैगिंग पर रिपोर्ट मांगी थी।

Vidushi Mishra

Vidushi Mishra

Next Story