अब इस मशीन की मदद से हारेगा कोरोना, डीआरडीओ को मिली बड़ी कामयाबी

कोरोना वायरस दुनिया के तमाम देशों के लिए बड़ी मुसीबत बन गया है और यही कारण है कि इसका संक्रमण रोकने के लिए तरह-तरह के कदम उठाए जा रहे हैं।

अंशुमान तिवारी

नई दिल्ली: कोरोना वायरस दुनिया के तमाम देशों के लिए बड़ी मुसीबत बन गया है और यही कारण है कि इसका संक्रमण रोकने के लिए तरह-तरह के कदम उठाए जा रहे हैं। ऐसे में रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) की ओर से विकसित एक मशीन जल्द ही बाजार में आने वाली है। किफायती और सुरक्षित माइक्रोवेव सेनेटाइजर मशीन अतुल्य कोरोना से मुक्ति दिलाने की दिशा में काफी कारगर साबित हो सकती है। इस मशीन में किसी भी सामान पर चिपके वायरस और हवा में मौजूद कोरोना वायरस को पल भर में निष्क्रिय कर देने की क्षमता है।

ये भी पढ़ें: प्रवासी मजदूरों के लिए खुशखबरी, आज से देश में कहीं भी मिलेगी ये सुविधा

सेनेटाइज करने की किफायती तकनीक

कोरोना वायरस के खतरे को कम करने के लिए अभी ऑफिस या घर को रासायनिक छिड़काव की मदद से संक्रमण मुक्त किया जा रहा है। देश के विभिन्न शहरों में इस तकनीक का इस्तेमाल किया जा रहा है। यदि उपकरण, केमिकल और सेनेटाइजर की लागत को देखा जाए तो यह तकनीक काफी महंगी साबित होती है। इस तकनीक की तुलना में अतुल्य काफी किफायती है। इसे पुणे में डिफेंस इंस्टीट्यूट ऑफ एडवांस्ड टेक्नोलॉजी (डीआईएटी) ने तैयार किया है। माना जा रहा है कि इसकी मदद से कोरोना का संक्रमण कम करने में काफी हद तक मदद मिलेगी।

ये भी पढ़ें: प्रवासी मजदूरों के लिए खुशखबरी, आज से देश में कहीं भी मिलेगी ये सुविधा

मशीन में सिर्फ बिजली का खर्च

डीआईएटी के इलेक्ट्रॉनिक एवं कंप्यूटर इंजीनियरिंग विभाग के हेड प्रोफेसर के.पी.रे ने बताया कि इस मशीन पर काफी कम खर्च आएगा क्योंकि इसमें सिर्फ बिजली ही खर्च होती है। उन्होंने कहा कि यह साधारण तकनीक पर काम करती है। जिस सामान को संक्रमण मुक्त करना है उसे इस मशीन के सामने लाना होगा। प्रोफ़ेसर रे ने कहा कि इस मशीन के निर्माण की तकनीक हस्तांतरित हो चुकी है। उन्होंने उम्मीद जताई कि 15 दिनों में यह मशीन बिक्री के लिए उपलब्ध होगी।

मशीन को कहीं भी ले जाना आसान

जानकारों का कहना है कि यह मशीन दुकानों, ऑफिस और घरों को सेनेटाइज करने में बेहतर विकल्प साबित होगी। यह मशीन काफी किफायती है और इसे खरीदने पर भी ज्यादा खर्च नहीं आएगा। इसकी एक बड़ी खासियत यह भी है कि यह काफी हल्की है और इसे कहीं भी आसानी से ले जाया जा सकता है। वैसे जानकारों का कहना है की डिमांड के मुताबिक इसे बड़े आकार में भी बनाया जा सकता है।

ये भी पढ़ें: सदमे में बॉलीवुड: इनका हुआ निधन, इन सेलेब्स ने जताया दुःख

रियायतों के दौरान मशीन कारगर हथियार

देश में लॉकडाउन के पांचवें चरण के दौरान तमाम रियायतें देने का एलान किया गया है। इन रियायतों के बाद ऑफिसों में कर्मचारियों की संख्या बढ़ेगी और बाजारों में भीड़ भी बढ़ेगी क्योंकि दुकानें खोलने की इजाजत दे दी गई है। कोरोना केसों की बढ़ती रफ्तार को रोकने के लिए सार्वजनिक स्थानों को सेनेटाइज करने पर जोर दिया जा रहा है। जानकारों का कहना है कि सार्वजनिक स्थानों को सेनेटाइज करने और सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन करके ही कोरोना वायरस के संक्रमण को कम किया जा सकता है। ऐसे में यह मशीन कारगर हथियार साबित हो सकती है क्योंकि इसकी मदद से दफ्तरों, बाजारों और अन्य सार्वजनिक स्थलों को सेनेटाइज किया जा सकता है।

ये भी पढ़ें: हजारों लोगों ने की कोरोना से बचने की कामना, घरों में रहकर एक साथ किया ये बड़ा आयोजन