DRDO में पीएम मोदी: पुराने लोगों की मजबूती के बिना नए का ऊपर जाना संभव नहीं है

कर्नाटक का यह प्रवास और 2020 का यह पहला प्रवास जय जवान जय विज्ञान जय किसान जय अनुसंधान, न्यू इंडिया की भावना पर समर्पित है। यह आयोजन एयरोनॉटिकल डेवलपमेंट इस्टबलिशमेंट में हो रहा है।

Published by Aditya Mishra Published: January 2, 2020 | 8:01 pm
Modified: January 2, 2020 | 8:04 pm

कर्नाटक:  देश के पीएम नरेंद्र मोदी डीआरडीओ द्वारा आयोजित कार्यक्रम में पहुंचे। इस दौरान डीआरडीओ की उपलब्धियों का एक लघु चित्रण प्रस्तुत किया गया। यहां पीएम मोदी ने कहा कि 19वीं सदी की व्यवस्थाओं से 21वीं सदी को पार नहीं किया जा सकता है। तीनों सेनाओं में समन्वय के लिए सीडीएस का पद बनाया गया।

वर्षों पहले इसकी जरूरत महसूस की गई थी कि तीनों सेनाओं में समन्वय के लिए ऐसा पद होना चाहिए। बहुत बड़ा बदलाव आने वाला है और उसका सीधा संबंध डीआरडीओ से भी आने वाला है।

खुद को हमें मजबूत करते रहना है। यंग साइंटिस्ट लैब के स्थापना के पीछे भी यही विजन है। डीआरडीओ के वर्किंग कल्चर में भी नई ऊर्जा का संचार करेंगे इसके साथ ही आप सभी को मेरी तरफ से बहुत-बहुत बधाई।

ये भी पढ़ें…कर्नाटक: तुमकुर में पीएम मोदी ने रखी श्री सिद्धगंगा मठ म्यूजियम की नींव

पुराने लोगों की मजबूती के बिना नए का ऊपर जाना संभव नहीं है

कर्नाटक का यह प्रवास और 2020 का यह पहला प्रवास जय जवान जय विज्ञान जय किसान जय अनुसंधान, न्यू इंडिया की भावना पर समर्पित है। यह आयोजन एयरोनॉटिकल डेवलपमेंट इस्टबलिशमेंट में हो रहा है।

यह पूरा एक नया दशक हमारे सामने आया है। भारत आने वाले सालों में कहां होगा तय करने वाला दशक है। मैंने कहा था कि 21वीं सदी की चुनौतियों से निपटने के लिए नई ऊर्जा से काम करना चाहिए।

इसके पीछे मेरी भूमिका यही थी कि जो तपस्या करके वहां तक पहुंचे हैं उनके ऊपर 35 साल का कोई युवा बैठा देंगे तो दुनिया को नए भारत की तस्वीर दिखेगी।

पुराने लोगों की मजबूती के बिना नए का ऊपर जाना संभव नहीं है। यह काम्बिनेशन बहुत आवश्यक है। मैं राजनीतिक जीवन में बहुत देर से आया हूं। शुरू में मैं पार्टी के अन्य कामों को देखता था।

मैंने जब गुजरात में शुरुआत की और पहले बड़े चुनाव की जिम्मेदारी आई उस समय अखबारों ने विस्तार से लिखा था कि 90 लोगों की एवरेज उम्र 23 है। उसमें हम विजयी हुए थे. युवा में रिस्क टेकिंग केपेसिटी बहुत होती है।

ये भी पढ़ें…प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देशवासियों को नए साल की शुभकामनाएं दी

सरकार पूरी तरह आपके साथ है: पीएम मोदी

आपके लिए कोई काम कठिन नहीं है। आपकी क्षमताएं असीम है। अपने दायरे का विस्तार कीजिए। पंख को खोलकर आसमान में उड़ने का हौसला दिखाइए मैं आपके साथ हूं। सरकार पूरी तरह आपके साथ है।

आप सभी इस बात से परिचित हैं कि आने वाले समय से हवा और समुद्र के साथ-साथ साइबर और स्पेस भी दुनिया के स्ट्रेटजिक डायनमिक्स को तय करने वाले हैं। इसके साथ-साथ इंटिलिजेंस मशीन सुरक्षा क्षेत्र में अहम रोल निभाने वाले हैं. ऐसे में भारत भी पीछे नहीं रह सकता। इनोवेशन महत्वपूर्ण है।

डीआरडीओ की उपलब्धियां अनंत हैं: पीएम मोदी

मैं DRDO को उस ऊंचाई पर देखना चाहता हूं जहां वो न सिर्फ भारत के वैज्ञानिक संस्थानों की दिशा और दशा तय करे। बल्कि दुनिया के अन्य बड़े संस्थानों के लिए भी प्रेरणास्रोत बनें। मैं ऐसा क्यों कह रहा हूं इसकी ठोस वजह है और वजह है डीआरडीओ का प्रदर्शन. आज देश का बेहतरीन माइंड डीआरडीओ में है, डीआरडीओ की उपलब्धियां अनंत हैं।

120 करोड़ भारतीयों की सुरक्षा का जिम्मा आपके कंधों पर: पीएम मोदी

आज बेंगलुरु, कोलकाता, चेन्नई, मुंबई और हैदराबाद में यंग साइंटिस्ट लैब शुरू हो रहे हैं। मुझे विश्वास है कि यंग साइंटिस्ट लैब युवा वैज्ञानिकों के व्यवहार को नई उड़ान देगी। इसका मतलब यह हुआ कि अब ये डीआरडीओ वाय के नाम से पहचाना जाएगा।

यह लैब सिर्फ टेक्नॉलजी को टेस्ट नहीं करेगी मेरे हिसाब से यह मेरे यंग साइंटिस्ट के टेंपरामेंट को और पेशेंस को टेस्ट करने के लिए भी है।
आपके निरंतर प्रयास से ही भारत आगे जाएगा।

आपको हमेशा ध्यान रखना है कि 120 करोड़ भारतीयों की सुरक्षा का जिम्मा आपके कंधों पर है। एक दशक में डीआरडीओ का रोड मैप क्या हो इस पर गंभीरता से विचार किया जाना चाहिए।

सरकार को खजाना लगाने में क्या दिक्कत है: पीएम मोदी

पीएम मोदी ने आगे कहा कि युवा मन और अनुभवी मन में एक अंतर होता है। विश्व की चुनौतियों को स्वीकर करने के लिए डीआरडीओ में इन दोनों का काम्बिनेशन होना चाहिए। कभी कभार एक बड़े वृक्ष के नीचे एक पौधा पनप नहीं पाता है।

किसी का दोष नहीं है। लेकिन अगर उसी पौधे को खुले में छोड़ दिया जाए तो वट वृक्ष भी गर्व करेगा। इसीलिए यह 5 लैब शुरू किया गया है। ये 5 लैब गलतियां करे, चलेगा। ये 5 लैब पूरा पैसा बर्बाद कर दे चलेगा। आप अपनी पूरी जिंदगी लगा रहे हो तो सरकार को खजाना लगाने में क्या दिक्कत है।

ये भी पढ़ें…मोदी के 3 बड़े फैसले! 2020 में मचाएंगे धमाल, तीसरे से विपक्षियों को लगेगी मिर्ची

 

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App