Top

विदेश में नौकरी का वादा करके धन ऐंठने वाले गिरोह का पर्दाफाश

पंजाब के पाटियाला जिले से दो महिलाओं समेत चार लोगों को 200 लोगों से करीब 60 लाख रुपये की कथित धोखाधड़ी करने के मामले में गिरफ्तार किया गया है।

Aditya Mishra

Aditya MishraBy Aditya Mishra

Published on 25 May 2019 4:35 PM GMT

विदेश में नौकरी का वादा करके धन ऐंठने वाले गिरोह का पर्दाफाश
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नयी दिल्ली: पंजाब के पाटियाला जिले से दो महिलाओं समेत चार लोगों को 200 लोगों से करीब 60 लाख रुपये की कथित धोखाधड़ी करने के मामले में गिरफ्तार किया गया है। इन पर लोगों से विदेश में नौकरी मुहैया कराने का वादा करके धन लेने का आरोप है। पुलिस ने शनिवार को यह जानकारी दी।

यह भी पढ़ें... ये क्या कह दिया पोप फ्रांसिस ने गर्भपात को ले कर

उन्होंने बताया कि आरोपी की पहचान पाटियाला के रहनेवाले 22 वर्षीय इशप्रीत सिंह, 28 वर्षीय करण कुमार, 22 वर्षीय आकांक्षा, उत्तम नगर के रहने वाले 22 वर्षीय पलक सचदेवा के रूप में हुई है। इन्हें बुधवार को गिरफ्तार किया गया।

पुलिस ने बताया कि आरोपी के पास से 148 पासपोर्ट, 13 मोबाइल फोन, 35 सिम जब्त किए गए।

यह भी पढ़ें... मेरठ: पुलिस ने शोरूम कर्मचारी विक्रम हत्याकांड का किया ख़ुलासा, 5 आरोपी गिरफ्तार

पुलिस उपायुक्त (पश्चिम) मोनिका भारद्वाज ने बताया कि 19 मई को राजस्थान के सीकर के एक निवासी ने जनकपुरी पुलिस थाना में शिकायत दर्ज कराई थी। पीड़ित ने आरोप लगाया कि उसने ब्लैक स्टोन इमिग्रेशन सर्विसेज फॉर जॉब से नौकरी के लिए 17 मई को संपर्क किया था क्योंकि उन्होंने इस संबंध में विज्ञापन देखा था।

शिकायतकर्ता ने बताया कि वह 24 अप्रैल को कंपनी के जनकपुरी कार्यालय में आए थे।

यहां शिकायतकर्ता आकांक्षा से मिले जिसने उनसे कनाडा में नौकरी मुहैया कराने के लिए 14,1609 रुपये की अग्रिम राशि ली। इसके बाद युवती ने दावा किया कि नौकरी की प्रक्रिया शुरू हो गई है और मेडिकल चेकअप के लिए और 6,000 रुपये की मांग की।

सभी औपचारिकताएं पूरी होने के बाद आरोपी ने विजय से एक लाख रुपये की मांग की। विजय ने आरोपी को 20,000 नकद और 80,000 रुपये उनके खाते में जमा कराया।

यह भी पढ़ें... अफगानिस्तान: कंधार के स्पिन बोल्डक जिले में विस्फोट, 1 की मौत, 2 घायल

पुलिस ने बताया कि इसके बाद शिकायतकर्ता को एक महीने तक प्रतीक्षा करने को कहा ताकि उनका वीजा और हवाई टिकट बन सके।

जांच के दौरान पुलिस ने आरोपियों का पता पंजाब में लगाया और उसके बाद उनकी गिरफ्तारियां हुई। पूछताछ के दौरान आरोपियों ने खुलासा किया कि वह लोगों को विदेश में नौकरी देने के नाम पर फंसाते थे। लोगों से धन और पासपोर्ट लेने के बाद वह फरार हो जाते थे। आरोपी ने स्वीकार किया कि वह अब तक 200 लोगों से 60-70 लाख की ठगी कर चुके हैं।

(भाषा)

Aditya Mishra

Aditya Mishra

Next Story