नोटबंदी की वजह से सोना गिरकर 28,690 तक पहुंचा, चांदी भी 40 हजार के करीब

Published by aman Published: November 30, 2016 | 4:59 pm
Modified: November 30, 2016 | 9:19 pm
नोटबंदी की वजह से सोना 28,690 प्रति दस ग्राम तक पहुंचा, चांदी में भी गिरावट

नई दिल्ली: नोटबंदी का असर साफ़ तौर पर सर्राफा बाजार पर दिखने लगा है। कमजोर वैश्विक संकेतों से सटोरियों की खरीदारी सीमित होने पर वायदा बाजार में बुधवार को सोना 0.25 प्रतिशत घटकर 28,690 रुपए प्रति दस ग्राम रहा। मल्टीकमोडिटी एक्सचेंज में सोना दिसंबर डिलीवरी का भाव 72 रुपए यानी 0.25 प्रतिशत गिरकर 28,690 रुपए प्रति दस ग्राम रहा। इसमें 73 लॉट के लिए कारोबार हुआ।

धीमी खरीदारी भी वजह
इसके साथ ही फरवरी माह में डिलीवरी के लिए सोना वायदा 50 रुपए यानी 0.17 प्रतिशत गिरकर 28,556 रुपए प्रति 10 ग्राम रहा। इसमें 23 लॉट के लिए कारोबार हुआ। विश्लेषकों ने सोने के वायदा भाव में आई गिरावट के लिए कारोबारियों की धीमी खरीदारी और वैश्विक बाजारों के कमजोर रुख को जिम्मेदार ठहराया।

वैश्विक बाजार में भी गिरावट
अमेरिका में फेडरल रिजर्व द्वारा ब्याज दरों में वृद्धि किए जाने की आशंका में गतिविधियां कमजोर रहीं। बहरहाल, अमेरिका के न्यूयार्क बाजार में मंगलवार को सोना 0.49 प्रतिशत घटकर 1,187.90 डॉलर प्रति औंस रह गया।

लगातार हो रही गिरावट
वहीं मंगलवार को सर्राफा बाजार में सोना 29,000 प्रति दस ग्राम से नीचे चला गया था। मानक सोना (99.5 प्रतिशत शुद्धता) 95 रुपए गिरकर 28,905 रुपए प्रति 10 ग्राम के भाव पर रहा। सोमवार को सोना 29,000 रुपए प्रति दस ग्राम रहा था। खरा सोना (99.9 फीसदी शुद्धता) भी 29,055 रुपए प्रति 10 ग्राम रहा, सोमवार को इसका मूल्‍य 29,150 रुपए रहा था। दूसरी तरफ, विदेशों में कमजोर रुख के बावजूद आभूषण निर्माताओं और फुटकर मांग बढने से दिल्ली सर्राफा बाजार में बुधवार को सोना का भाव 50 रुपए की तेजी के साथ 29,450 रुपए प्रति दस ग्राम रहा।

चांदी में भी आई गिरावट
बिकवाली दबाव के चलते चांदी के भाव 865 रुपए की गिरावट के साथ 40,735 रुपए प्रति किलो रह गया। बाजार सूत्रों की मानें तो विदेशों में नरमी के बावजूद शादी-विवाह के चलते बढ़ी मांग को पूरा करने के लिए फुटकर और आभूषण निर्माताओं की लिवाली बनी हुई है। इसके चलते सोने की कीमतों में तेजी आई है। सर्राफा व्यापारियों ने बताया कि सरकार की ओर से 500 और 1,000 रुपए के मौजूदा नोटों को चलन से बाहर किए जाने के कारण कारोबार में 75 फीसदी की गिरावट आई थी।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App