ट्रंप के दौरे से भारत को होगा ये फायदा: ट्रेड डील पर सरकार ने दिया बड़ा बयान

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के भारत दौरे को लेकर खास उत्साह है। खास तौर से अहमदाबाद के मोटेरा स्टेडियम में ट्रंप के दौरे को लेकर खास तैयारी की गई है, जहां यूएस राष्ट्रपति नमस्ते कार्यक्रम में शिरकत करेंगे। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के जरिए अमेरिकी राष्ट्रपति के कार्यक्रम की जानकारी दी।

Published by suman Published: February 20, 2020 | 9:25 pm
Modified: February 20, 2020 | 9:48 pm

नई दिल्ली  अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के भारत दौरे को लेकर खास उत्साह है। खास तौर से अहमदाबाद के मोटेरा स्टेडियम में ट्रंप के दौरे को लेकर खास तैयारी की गई है, जहां यूएस राष्ट्रपति नमस्ते कार्यक्रम में शिरकत करेंगे। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के जरिए अमेरिकी राष्ट्रपति के कार्यक्रम की जानकारी दी।

 

यह पढ़ें… ‘नमस्ते ट्रंप’ में विपक्ष को बुलाने के सवाल पर विदेश मंत्रालय ने कहा- इसको हम नहीं आयोजित कर रहे

नमस्ते ट्रंपइवेंट

उन्होंने बताया कि डॉनल्ड ट्रंप अहमदाबाद के साथ-साथ आगरा और दिल्ली भी पहुंचेंगे। रवीश कुमार ने बताया कि ये अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप का पहला भारत दौरा है। पिछले 8 महीने में उनकी प्रधानमंत्री मोदी के साथ 8वीं मुलाकात होगी। इस दौरान यूएस से ट्रेड डील के मुद्दे पर कहा सरकार कोई जल्दबाजी नहीं करना चाहती है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने बताया कि अमेरिका के राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप दोपहर में अहमदाबाद पहुंचेंगे। इसके बाद वो ‘नमस्ते ट्रंप’ इवेंट में शामिल होने के लिए मोटेरा स्टेडियम पहुंचेंगे।एयरपोर्ट से मोटेरा स्टेडियम जाने के दौरान उनके स्वागत में बड़ी संख्या में लोग एक पंक्ति में खड़े होंगे। ‘नमस्ते ट्रंप’ इवेंट के दौरान अमेरिकी राष्ट्रपति वहां मौजूद लोगों को संबोधित करेंगे।

 



ट्रेड डील

इस दौरे के दौरान दिल्ली में ट्रंप और प्रधानमंत्री मोदी राजघाट जाएंगे और महात्मा गांधी को श्रद्धा-सुमन अर्पित करेंगे। इसके बाद हैदराबाद हाउस में पीएम मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप की हैदराबाद हाउस में प्रतिनिधिमंडल स्तर की बातचीत होगी। अमेरिका के साथ ट्रेड डील के मुद्दे पर रवीश कुमार ने कहा कि हमें उम्मीद है कि हम किसी फैसले पहुंचेंगे। हम कोई जल्दबाजी नहीं करना चाहते हैं। ‘आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में भारत और अमेरिका मजबूत साझीदार है। हमें उम्मीद है कि ये सहयोग और भी मजबूत होगा।

यह पढ़ें… चीन ने गृह मंत्री अमित शाह के इस कदम का किया विरोध, भारत ने दिया मुंहतोड़ जवाब

रवीश कुमार ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान बताया कि जापान के समुद्र तट से दूर क्रूज शिप डायमंड प्रिंसेस में सवार यात्रियों में से 8 भारतीय नागरिकों को कोरोना वायरस के संक्रमण की जानकारी मिली है। उनका इलाज स्थानीय अस्पताल में चल रहा है।  सरकार ने स्वास्थ्य आपूर्ति को लेकर एक एयरक्राफ्ट वुहान भेजने का फैसला लिया है। ये चीन को समर्थन का एक छोटा से तरीका है और महामारी बन चुके कोरोना वायरस के खिलाफ हमारी जंग जारी है।

दोस्तोंं देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।