अयोध्या के बाद अब महाराष्ट्र सरकार पर फैसला, राज्यपाल ने दिया भाजपा को न्योता

महाराष्ट्र में राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) को सरकार बनाने का न्योता दिया है, राज्यपाल ने बीजेपी को सबसे बड़ी पार्टी होने के कारण सरकार बनाने का न्योता दिया है।

मुंबई:  महाराष्ट्र में राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) को सरकार बनाने का न्योता दिया है, राज्यपाल ने बीजेपी को सबसे बड़ी पार्टी होने के कारण सरकार बनाने का न्योता दिया है।

विधानसभा चुनाव में बीजेपी ने 105 सीट हासिल कर सबसे बड़ी पार्टी बनी, इससे पहले शुक्रवार को देवेंद्र फडणवीस ने राज्यपाल को इस्तीफा सौंप दिया था।

बता दें कि राज्यपाल ने बीजेपी को सरकार बनाने का न्योता दिया है, बीजेपी को 11 नवंबर तक बहुमत साबित करना होगा।

13वीं विधानसभा का कार्यकाल समाप्त…

दरअसल, महाराष्ट्र में 13वीं विधानसभा का कार्यकाल आज समाप्त हो गया है। हालांकि अभी तक राज्य में नई सरकार के गठन को लेकर स्थिति साफ नहीं हो सकी है। बता दें कि सीएम देवेंद्र फडणवीस ने शुक्रवार को सीएम पद से इस्तीफा दे दिया है। हालांकि वह अभी कार्यवाहक सीएम बने रहेंगे।

वहीं महाराष्ट्र में सरकार गठन को लेकर जारी खींचतान के बीच कांग्रेस, एनसीपी और शिवसेना को अपने विधायकों के टूटने का डर सता रहा है।

बता दें कि भाजपा राज्य की सबसे बड़ी पार्टी है और शिवसेना के साथ सीएम पद को लेकर दोनों पार्टियों में सहमति नहीं बन पा रही है।

भाजपा, शिवसेना, कांग्रेस और एनसीपी…

बताया जा रहा है कि इसी वजह से कांग्रेस, एनसीपी और शिवसेना को अपने विधायकों के टूटने की आशंका है। इसके चलते कांग्रेस जहां अपने विधायकों को जयपुर भेजने की बात कह रही है।

वहीं शिवसेना ने अपने विधायकों को एकजुट रखने के लिए मुंबई के एक होटल में रखा हुआ है। कांग्रेस भाजपा पर विधायकों की खरीद-फरोख्त करने का आरोप लगा चुकी है। आरोपों के अनुसार, भाजपा ने 25-50 करोड़ रुपए का ऑफर दिया है।

फंसा है पेंच…

बता दें कि शिवसेना और भाजपा के बीच सीएम पद साझा करने के मुद्दे पर पेंच फंसा हुआ है। शिवसेना जहां ढाई-ढाई साल के लिए दोनों पार्टियों को सीएम पद देने की मांग पर अड़ी है, वहीं भाजपा इससे साफ इंकार कर चुकी है।

देवेंद्र फडणवीस का सीएम पद से इस्तीफा…

शुक्रवार को महाराष्ट्र के सीएम देवेंद्र फडणवीस ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। फडणवीस सरकार का कार्यकाल आज यानि कि 9 नवंबर को समाप्त हो रहा है।