राज्य सभा में GST बिल पास होने के आसार, लेफ्ट-ममता भी समर्थन में

फाइल फोटो

नई दिल्लीः पीएम नरेंद्र मोदी चाहते हैं कि हर हाल में जीएसटी बिल पास हो। बिल लोकसभा से पास हो चुका है, लेकिन राज्य सभा में सरकार के पास बहुमत न होने की वजह से ये लटका हुआ है। हालांकि, संसद के मानसून सत्र में जीएसटी बिल के पास होने के आसार बनते दिख रहे हैं। सरकार को कई राजनीतिक दलों से इस पर समर्थन मिलता दिख रहा है।

कौन-कौन हैं समर्थन में?
-प. बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने जीएसटी बिल पास कराने में देरी पर चिंता जताई है।
-केरल के सीएम पी. विजयन भी अरुण जेटली से इस मसले पर चर्चा में समर्थन जता चुके हैं।
-जयललिता की पार्टी एआईएडीएमके समर्थन दे या वोटिंग में हिस्सा न ले तो बिल पास हो सकता है।

क्या है राज्य सभा का गणित?
-राज्य सभा में सदस्यों की मौजूदा संख्या 241 है।
-जीएसटी बिल के पक्ष में जयललिता की पार्टी के 12 सांसद वोट न दें तो 163 सांसदों का समर्थन चाहिए होगा।
-कांग्रेस समेत यूपीए के सांसदों की संख्या 65 रह जाएगी।
-11 जून के बाद बीजेपी के 4, जयललिता की पार्टी का 1 ज्यादा और आरजेडी को 2 सीटें मिलेंगी।
-कांग्रेस के 4 सदस्य कम होंगे, जेडीयू के भी तीन सदस्य कम हो जाएंगे।