तूफान ‘वायु’ को लेकर रेड अलर्ट, गुजरात में स्कूल बंद, अलर्ट पर सेना

भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने गुजरात के तटवर्ती इलाकों में चक्रवाती तूफान वायु को लेकर चेतावनी जारी की है।मौसम विभाग के अनुसार अरब सागर से उठने वाला चक्रवाती तूफान वायु 75 किलोमीटर से लेकर अधिकतम 135 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार के साथ प्रदेश के कई इलाकों में चलेगा।

नई दिल्ली: भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने गुजरात के तटवर्ती इलाकों में चक्रवाती तूफान वायु को लेकर चेतावनी जारी की है।मौसम विभाग के अनुसार अरब सागर से उठने वाला चक्रवाती तूफान वायु 75 किलोमीटर से लेकर अधिकतम 135 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार के साथ प्रदेश के कई इलाकों में चलेगा। चक्रवाती तूफान 12-13 जून को सौराष्ट्र तट से टकरा सकता है।

तूफान के कारण अहमदाबाद, गांधीनगर और राजकोट समेत तटवर्ती इलाके वेरावल, भुज और सूरत में हल्की बारिश हो सकती है। चक्रवात के कारण सौराष्ट्र के भावनगर, अमरेली, सोमनाथ, वेरावल, जामनगर, पोरबंदर और कच्छ समेत कई इलाकों में तेज हवाओं के साथ भारी बारिश की संभावना जताई है।

यह भी पढ़ें…अलीगढ़: मासूम की हत्याकांड के बाद चर्चा में आए SSP कुलहरि का विवादों से पुराना नाता

वहीं चक्रवात के मामले को देखते हुए गुजरात के सीएम विजय रूपाणी ने अधिकारियों के साथ बैठक की। चक्रवात वायु के मद्देनजर गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने पूरे राज्य में 13 से 15 जून तक 3 दिवसीय शाला प्रवेशोत्सव (स्कूल उत्सव का स्वागत) रद्द कर दिया है।

वहीं जहां चक्रवात का असर देखा जा सकता है उन 10 जिलों के स्कूलों और कॉलेजों में 13 और 14 जून को दो दिन की छुट्टी की घोषणा की है। वहीं वलसाड में बारिश ने भी दस्तक दे दी है।

यह भी पढ़ें…विश्व कप में भारत की जीत के लिए जलाई गई 6 फीट की अगरबत्ती, जानें खासियत

मौसम विभाग के मुताबिक 90-100 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से तेज हवा चलेगी और अरब सागर से चलकर उत्तरपूर्वी इलाके में इसकी रफ्तार 115 किलोमीटर प्रति घंटा रह सकती है।

गुजरात में एनडीआएफ की कुल 26 टीमें लगाई गई हैं तो वहीं 10 को स्टैंडबाय पर रखा गया है। 26 में से 16 टीमों को राजकोट में तैनात किया गया है।