×

नतीजों से पहले हार्दिक का दावा- 5,000 EVM हैक करने को लगाए 140 इंजीनियर

aman

amanBy aman

Published on 17 Dec 2017 4:08 AM GMT

नतीजों से पहले हार्दिक का दावा- 5,000 EVM हैक करने को लगाए 140 इंजीनियर
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

गांधीनगर: गुजरात विधानसभा चुनाव के नतीजे सोमवार (18 दिसंबर) को आने हैं। लेकिन उससे ठीक पहले हार्दिक पटेल ने ईवीएम पर सवाल उठाए हैं। हार्दिक पटेल ने शनिवार देर रात ट्वीट कर कहा, कि 'अहमदाबाद की एक कंपनी के 140 सॉफ्टवेयर इंजीनियर के हाथों से 5,000 ईवीएम मशीन को सोर्स कोर्ड से हैकिंग करने की तैयारी हैं।'



बारे दें, कि हार्दिक पटेल से पहले प्रदेश की प्रमुख विपक्षी पार्टी कांग्रेस ने भी ईवीएम से छेड़छाड़ का आरोप लगाया था। कांग्रेस पार्टी इस मामले को चुनाव आयोग तक लेकर गई थी। लेकिन आयोग ने ऐसी सभी बातों को निराधार बताते हुए ख़ारिज कर दिया था।



पहले भी किया था ट्वीट

गौरतलब है कि इससे पहले शनिवार को भी हार्दिक ने ईवीएम में गड़बड़ी का आरोप लगाते हुए ट्वीट किया था। उस ट्वीट में उन्होंने लिखा था 'बीजेपी शनिवार और रविवार की रात को ईवीएम में बड़ी गड़बडी करने जा रही है। बीजेपी चुनाव हार रही है, यदि ईवीएम में गड़बड़ी न हुई तो बीजेपी 82 सीटों पर ही सिमट जाएगी।'



इस ट्वीट का खूब उदा मजाक

हार्दिक के एक अन्य ट्वीट ने तब खूब सुर्खियां बटोरी थी जिसमें उसने दावा किया था कि 'बीजेपी ईवीएम में गड़बड़ी कर गुजरात चुनाव जीतेगी, लेकिन हिमाचल का चुनाव हार जाएगी, ताकि कोई सवाल न उठाए।' राजनीतिक पंडितों ने हार्दिक के इस ट्वीट को हास्यास्पद बताया था।

aman

aman

अमन कुमार, सात सालों से पत्रकारिता कर रहे हैं। New Delhi Ymca में जर्नलिज्म की पढ़ाई के दौरान ही ये 'कृषि जागरण' पत्रिका से जुड़े। इस दौरान इनके कई लेख राष्ट्रीय, अंतरराष्ट्रीय और कृषि से जुड़े मुद्दों पर छप चुके हैं। बाद में ये आकाशवाणी दिल्ली से जुड़े। इस दौरान ये फीचर यूनिट का हिस्सा बने और कई रेडियो फीचर पर टीम वर्क किया। फिर इन्होंने नई पारी की शुरुआत 'इंडिया न्यूज़' ग्रुप से की। यहां इन्होंने दैनिक समाचार पत्र 'आज समाज' के लिए हरियाणा, दिल्ली और जनरल डेस्क पर काम किया। इस दौरान इनके कई व्यंग्यात्मक लेख संपादकीय पन्ने पर छपते रहे। करीब दो सालों से वेब पोर्टल से जुड़े हैं।

Next Story