×

रिसर्च:डेयरी प्रोडक्टस का ज्यादा करते हैं इस्तेमाल तो जानिए इफेक्ट्स, यहां के लोग है इसके EXAMPLE

suman
Published on: 19 Dec 2018 9:57 AM GMT
रिसर्च:डेयरी प्रोडक्टस का ज्यादा करते हैं इस्तेमाल तो जानिए इफेक्ट्स, यहां के लोग है इसके EXAMPLE
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

जयपुर :गुजरात देश में सबसे ज्यादा दूध उत्पादन करने वाले राज्यों में शामिल है। इसका असर यहां लोगों के दांतों पर भी देखा गया है। गुजरातियों के दांतों में कैल्शियम की मात्रा सर्वाधिक है। गुजरात फॉरेंसिक साइंस यूनिवर्सिटी की एक शोध से इस बात का खुलासा हुआ है। शोध का लक्ष्य यह देखना था कि ऐसे राज्यों में रहने वाले लोगों की डाइट का उनके दांतों पर क्या असर होता है। गुजरात में लोग दूध और इससे बने उत्पाद काफी पसंद करते हैं। छाछ, श्रीखंड, खीर और दूध उनकी डाइट का हिस्सा होता है। इस वजह से उनके दांतों में कैल्शियम की मात्रा ज्यादा पाई गई। यूनिवर्सिटी के अनुसार, गुजरातियों के दांतों में कैल्शियम की मात्रा 82% और केरल के लोगों में 80% पाई गई। 2 प्रतिशत की अधिकता काफी मायने रखती है।

हरियाणा नगर निगम चुनाव ​परिणाम Live: पांचों नगर निगम में BJP ने बनाई है बढ़त

यह मात्रा केरल, कर्नाटक, तमिलनाडु और आंध्र जैसे दक्षिण भारतीय राज्यों में रहने वाले लोगों के मुकाबले ज्यादा है।गुजरात फॉरेंसिक साइंस यूनिवर्सिटी ने इस शोध में ऐसे राज्यों को शामिल किया गया, जहां दूध की खपत ज्यादा होती है। रिसर्च से जुड़ी बात कहना है कि रिसर्च का एक और लक्ष्य था कि दांतों की मदद से एक्सीडेंट के बाद लोगों की पहचान करना। एक्सीडेंट या शरीर जलने का असर दांतों पर कम होता है। इनका बायोमार्कर की तरह इस्तेमाल किया जा सकता है। शोधकर्ताओं के मुताबिक, दांतों से इंसान के बारे में काफी जानकारी मिलती है। जैसे शाकाहारी होने पर दांतों में जिंक और फास्फोरस जैसे मेटल की मात्रा काफी कम पाई जाती है, जबकि मांसाहारी होने पर इनकी मात्रा दांतों में ज्यादा रहती है। गुजरातियों में जिंक 0.14 फीसदी और फास्फोरस 17.3 प्रतिशत है, जबकि केरल के लोगों में यह आंकड़ा 0.23 फीसदी और 18.5 प्रतिशत है।

suman

suman

Next Story